S M L

पासी समाज के वीरों के बारे में पढ़ेंगे यूपी स्कूल के स्टूडेंट्स

यूपी बोर्ड 2018-19 के सत्र के लिए पहले से ही नए सिलेबस की घोषणा कर चुकी है और इसमें कई बदलाव कर चुकी है

FP Staff Updated On: Apr 01, 2018 03:44 PM IST

0
पासी समाज के वीरों के बारे में पढ़ेंगे यूपी स्कूल के स्टूडेंट्स

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि पासी समाज के वीरों को स्कूल के पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि पासी समाज ने विषम परिस्थितियों के बावजूद देश की स्वाधीनता, एकता और अखंडता के लिए जो त्याग और बलिदान दिया उसे सदैव याद किया जाएगा.

उन्होंने शनिवार को राजा गंगा बख्श रावत और उनके पुत्र कुंवर रणजीत सिंह रावत के सम्मान में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने निर्णय किया है कि पासी समाज के वीरों... महाराजा बिजली पासी, लखन पासी, राजा गंगा बख्श रावत और वीरांगना ऊदा देवी को स्कूल के पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जाएगा, जिससे आने वाली पीढ़ी इनके बारे में जान सके और उनसे प्रेरणा लेकर राष्ट्र के विकास में सहभागी बन सके.

इस अवसर पर केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण राज्यमंत्री कृष्णाराज ने कहा कि राज्य सरकार सभी लोगों को सामाजिक न्याय देने का काम कर रही है.

हो चुके हैं ये बदलाव

यूपी के स्कूलों में 1 अप्रैल से शुरू हो रहे नए सत्र में इन्हें शामिल किया गया है. यूपी बोर्ड 2018-19 के सत्र के लिए पहले से ही नए सिलेबस की घोषणा कर चुकी है और इसमें कई बदलाव कर चुकी है.

12 वीं के हिंदी के सिलेबस से अज्ञेय की कविता सन्नाटा को बाहर करके उसकी जगह आरएसएस के विचारक दीनदयाल उपाध्याय के निबंध सिद्धांत और नीति को शामिल किया गया है. 10 वीं की अंग्रेजी विषय के सिलेबस से सरोजनी नायडू की प्रसिद्ध कविता 'द विलेज सॉन्ग' को हटाकर इसकी जगह बेन जॉनसन की 'द परफेक्ट लाइफ' को शामिल किया गया है.

सबसे ज्यादा बदलाव हिंदी और संस्कृत में हुए हैं. कक्षा 9 के हिंदी पाठ्यक्रम में रबींद्रनाथ टैगौर की तोता को जोड़ा गया है. कक्षा 10 के हिंदी पाठ्यक्रम में श्याम नारायण पांडेय की कविता हल्दी घाटी को भी जगह दी गई है.

सिलेबस में दलित आइकन भीमराव अंबेडकर को भी शामिल किया गया है. पूर्व राष्ट्रपति और मशहूर वैज्ञानिक एपीजे अब्दुल कलाम के ऊपर भी एक चैप्टर शामिल किया गया है. इसके अलावा बैंकिग सिस्टम, साइबर सुरक्षा और यातायात के नियमों को भी अलग-अलग कक्षाओं के सिलेबस में शामिल किया गया है.

(भाषा से इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
FIRST TAKE: जनभावना पर फांसी की सजा जायज?

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi