S M L

हिमाचल: पिछले 48 घंटो में सामने आए 7 सुसाइड केस

इन सात सुसाइड के मामलों में पांच लोगों की जान चली गई है, जबकि दो अस्पताल में भर्ती हैं. इन सात मामलों में पांच छात्राएं और एक महिला और एक किशोर शामिल है

Updated On: Apr 26, 2018 05:18 PM IST

FP Staff

0
हिमाचल: पिछले 48 घंटो में सामने आए 7 सुसाइड केस
Loading...

बीते 48 घंटों में देवभूमि हिमाचल प्रदेश में सुसाइड के मामलों से दहल उठा है. यहां एक के बाद एक, सात सुसाइड मामले सामने आए हैं, जिनमें पांच लोगों की जान चली गई है, जबकि दो अस्पताल में भर्ती हैं. इन सात मामलों में पांच छात्राएं और एक महिला और एक किशोर शामिल है.

पहला मामला 

मंगलवार को हिमाचल प्रदेश शिक्षा बोर्ड का 12वीं का नतीजा निकला था. बिलासपुर के घुमारवीं में यहां एक नाबालिग स्टूडेंट फेल हो गया और इसी पर उसने जहर खा लिया. सोई गांव का यह छात्र घटना के दौरान घर में अकेला था. उसे गंभीर हालात में परिजन अस्पताल ले गए थे. जहां उसका इलाज चल रहा है.

दूसरा मामला 

12वीं में कंपार्टमेंट कांगड़ा के एक छात्रा ने भी जहर खाकर जान देने का प्रयास किया. गग्गल थाना के तहत यह मामला हुआ था. परिजन छात्रा को लेकर टांडा मेडिकल क़ॉलेज ले गए हैं, जहां उसका इलाज चल रहा है.

तीसरा मामला 

सुसाइड का तीसरा मामला मंडी जिले के सरकाघाट का है. यहां 22 साल की एक छात्रा ने फंदा लगाकर जान दे दी. जानकारी के अनुसार, भावना देवी पुत्री रतनचंद सरकाघाट कालेज में चौथे सेमेस्टर की छात्रा थी.

युवती के परिजनों के अनुसार, गत दिन वह सामान्य रूप से अपना हर काम कर रही थी और शाम को कॉलेज से छुट्टी के बाद उसने छोटे भाई को खाना खिलाया और वह खेलने बाहर चला गया. शाम करीब 7 बजे जब युवती का भाई खेलने के बाद घर आया और कमरे का दरवाजा खोला तो देखा कि उसकी बहन कमरे में दुपट्टा बांधकर लटकी हुई थी. एसपी मंडी गुरदेव चंद शर्मा ने मामले की पुष्टि की है.

चौथा मामला 

आत्महत्या का चौथा मामला हमीरपुर जिले से है. उपमंडल भोरंज में 12वीं की छात्रा ने वार्षिक परीक्षा में फेल होने पर जहर खा लिया. हालत बिगड़ने पर परिजन उसे भोरंज अस्पताल ले गए, जहां से उसे क्षेत्रीय अस्पताल हमीरपुर भेजा गया. यहां भी हालत में सुधार न होन पर उसे डॉ. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज टांडा रेफर किया गया. यहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. बताया जा रहा है कि छात्रा दो पेपरों में फेल हो गई थी.

पांचवां मामला 

धर्मशाला से भी दो छात्राओं के जहर खाने की खबर है. यहां एमबीए की पढ़ाई कर रही दो सहेलियों ने जहर खाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली. दोनों सहेलियां धर्मशाला में एमबीए की पढ़ाई कर रही थी. बुधवार देर रात को दोनों जहरीला पदार्थ खाया, जिससे उनकी मौत हो गई. धर्मशाला के अप्पर शकोह में ये दोनों सहेलियां बीते एक साल से रहती थी. मूल रूप से सूबे के हमीरपुर जिले के बड़सर की रहने वाली बताई जा रही हैं. दोनों की उम्र 21 और 22 साल है.

फिलहाल, यह पता नहीं चल पाया है कि इन्होंने यह कदम क्यों उठाया. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच-पड़ताल शुरू कर दी है. कांगड़ा के एसपी संतोष पटियाल का कहना है कि देर रात को मामले के बारे में सूचना मिली थी. युवतियों की पहचान वंदना और ईशा के रूप में हुई है. परिजनों को सूचना दी गई है. जांच के बाद ही घटना के सही कारणों का पता चल पाएगा.

छठा मामला 

कांगड़ा के ही ज्वालामुखी के पास बौहन भाटी पंचायत के वार्ड -8 के सकडालू में नवविवाहिता ने नाले में आत्महत्या कर ली. स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी.

डीएसपी योगेश दत्त ने बताया कि वीरवार सुबह फ़ोन के माध्यम से सूचना मिली कि बौहन भाटी पंचायत के सकडालू के एक नाले में एक युवती ने आत्महत्या कर ली है. युवती की शादी नम्बर 2017 में हुई थी. मामसे की छानबीन जारी है.

(न्यूज 18 के लिए विनोद कुमार की रिपोर्ट)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi