S M L

हिमाचल प्रदेश: 102 संस्ठानों को मिला अवैध निर्माण का नोटिस, दलाईलामा मंदिर परिसर का मठ भी शामिल

अवैध निर्माण को लेकर हाईकोर्ट को शिकायत दी गई है. अब निगम ने नामग्याल, थाडॉलिंग, जाम्यंग और कीर्ति मठ को अवैध बताया है और नोटिस दिया है

FP Staff Updated On: Aug 06, 2018 08:56 AM IST

0
हिमाचल प्रदेश: 102 संस्ठानों को मिला अवैध निर्माण का नोटिस, दलाईलामा मंदिर परिसर का मठ भी शामिल

लगातार बढ़ रहे अवैध निर्माण को लेकर नगर निगम धर्मशाल सख्त हो गया है.  निगम ने धर्मशाल के 102 संस्थान और मकानमालिकों को नोटिस भेजा है. जिन आवासों को नोटिस भेजा गया है उनमें धर्मगुरु दलाईलामा के मंदिर परिसर के मठ सहित 3 अन्य मठ भी शामिल हैं.

इसके अलावा, निगम की ओर से 43 तिब्बतियन होटलों, गेस्ट हाऊस को भी नोटिस भेजा गया है. अवैध निर्माण को लेकर हाईकोर्ट से शिकायत की गई थी. अब निगम ने नामग्याल, थाडॉलिंग, जाम्यंग और कीर्ति मठ को अवैध बताया है और नोटिस दिया है. नामग्याल मठ में धर्मगुरु दलाईलामा से जुड़े कई आयोजन होते हैं.

क्या हैं आरोप?

स्थानीय लोगों की ओर से हाईकोर्ट को भेजे गए शिकायत पत्र के आधार पर निगम ने ये बड़ी कार्रवाई की है. हाईकोर्ट को दी गई शिकायत में आरोप है कि नामग्याल, थार्डोलिंग, जाम्यंग और कीर्ती मठ अवैध रूप से होटल के प्रयोग में लाए जा रहे हैं. इनमें विदेशियों को ठहराया जा रहा है. नामग्याल मठ में धर्मगुरु दलाई लामा को लेकर कई धार्मिक आयोजन भी होते हैं.

अवैध भवनों को मिले बिजली पानी के कनेक्शन

शिकायतकर्ताओं ने हाईकोर्ट को लिखा है कि सरकारी विभाग पिक एंड चूज़ की भूमिका निभा रहा है. तिब्बतियों ने बहुमंजिला भवन, होटल और गेस्ट हाउस और मठ बना लिए हैं.

इन भवनों में न तो सैटवैक एरिया हैं और न ही पार्किंग इसके बावजूद उन्हें बिजली-पानी के कनेक्शन मिल गए, जबकि स्थाई लोगों के भवन गिराए जा रहे हैं. कानून सबके लिए एक होना चाहिए. शरणार्थी होने के चलते नगर निगम अब प्रदेश सरकार और गृह मंत्रालय के उच्च अधिकारियों से राय ले रहा है.

147 होटल-गेस्ट हाउसों के बिजली-पानी के कनेक्शन काटे

नगर निगम ने हाईकोर्ट के आदेशों पर कुछ महीने पहले 147 होटल और गेस्ट हाउसों के बिजली-पानी कनेक्शन काट दिए थे . इसके अलावा 31 और होटल और गेस्ट हाउसों की जांच के निर्देश हुए हैं. अब नगर निगम ने 47 नए होटल, गेस्ट हाउसों और तिब्बती मठों को नोटिस जारी कर दिए हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi