S M L

पटाखे बैन का नहीं दिखा असर, दिल्ली में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंचा

राजधानी में कई जगह प्रदूषण का स्तर साधारण से 24 गुना ज्यादा दर्ज किया गया. इंडिया गेट जैसे हाई अलर्ट एरिया में पीएम 2.5 का स्तर नॉर्मल से 15 गुना ज्यादा रहा

FP Staff Updated On: Oct 20, 2017 09:36 AM IST

0
पटाखे बैन का नहीं दिखा असर, दिल्ली में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंचा

दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट की ओर से पटाखों की बिक्री पर रोक लगाने का कोई असर नहीं देखा गया और दीपावली की रात राष्ट्रीय राजधानी में जमकर आतिशबाजी की गई जिससे धुंध छा गई. इससे लोगों को दिवाली की अगली सुबह सांस लेने में काफी परेशानी हो रही है.

शहर के प्रदूषण निगरानी स्टेशन के ऑनलाइन संकेतक ने हवा की गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ बताई क्योंकि शाम करीब सात बजे पीएम 2.5 और पीएम 10 की मात्रा हवा में तेजी से बढ़ गई. यह कण सांस लेने में ब्लडस्ट्रेम में पहुंच जाते हैं. इससे ब्लड कैंसर जैसे घातक रोग होने का खतरा रहता है.

प्रदूषण का डेटा खतरनाक स्थिति में लगता है. दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) के आर के पुरम निगरानी स्टेशन ने रात करीब 11 बजे पीएम 2.5 का स्तर 978 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर और पीएम 10 का स्तर 1,179 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर था. प्रदूषक ने 24 घंटे के दौरान प्रदूषण की सुरक्षित सीमा का 10 गुणा तक उल्लंघन किया जो क्रमश: 60 और 100 होनी चाहिए थी.

इतना ही नहीं राजधानी में कई जगह प्रदूषण का स्तर साधारण से 24 गुना ज्यादा दर्ज किया गया. इंडिया गेट जैसे हाईअलर्ट एरिया में पीएम 2.5 का स्तर नॉर्मल से 15 गुना ज्यादा रहा. इंडिया गेट पर कई लोग मार्निंग वॉक पर भी आते हैं. ऐसे में दिवाली की अगली सुबह उन्होंने सांस लेने में तकलीफ होने की शिकायत की.  सुबह 6 बजे इंडिया गेट पर पीएम 2.5 का स्तर 911 माइक्रोग्राम था, जबकि सामान्य तौर पर यह 60 माइक्रोग्राम रहता है.

अशोक विहार में पीएम 2.5 का स्तर समान्य से 14 गुना ज्यादा 820 माइक्रोग्राम दर्ज किया गया. वहीं आनंद विहार में यह स्तर 617 माइक्रोग्राम था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi