S M L

कश्मीरी छात्रों पर हमलाः बेटे को पिता ने दी दाढ़ी शेव करने की सलाह

हरियाणा केंद्रीय विश्यविद्यालय में पढ़ने वाले अमजद और अफताब पर कथित तौर पर 10-15 लोगों के समूह ने हमला कर दिया जिससे उनके चेहरे, हाथ और पैरों में चोटें आई है

FP Staff Updated On: Feb 03, 2018 10:11 PM IST

0
कश्मीरी छात्रों पर हमलाः बेटे को पिता ने दी दाढ़ी शेव करने की सलाह

हरियाणा के महेंद्रगढ़ में दो कश्मीरी छात्रों पर हुए हमले के एक दिन बाद, एक छात्र के पिता ने आरोप लगाया है कि मेरे बेटे पर सिर्फ स्कलकैप पहनने के कारण हमला किया गया था. हरियाणा केंद्रीय विश्यविद्यालय में पढ़ने वाले अमजद और अफताब पर कथित तौर पर 10-15 लोगों के समूह ने हमला कर दिया जिससे उनके चेहरे, हाथ और पैरों में चोटें आई है.

विश्वविद्यालय के छात्रों ने बताया कि यह हमला बिना किसी वजह के किया गया. दोनों छात्रों को सिर्फ इसलिए निशाना बनाया गया क्योंकि वो कश्मीरी थे.

न्यूज-18 की खबर के मुताबिक, अफताब के पिता अब्दुल कय्यूम ने कहा कि वहां कोई सुरक्षा नहीं है. उन्होंने कहा कि जब बाइक सवाल लोगों ने मेरे बेटे पर हमला किया तब वह शुक्रवार की नमाज अता करके लौट रहा था और स्कलकैप पहना हुआ था. उन्होंने मांग की कि जम्मू-कश्मीर सरकार इस मामले में जरूरी कदम उठाए.

इस मामले को लेकर शनिवार को विधानसभा में भी हंगामे जैसा माहौल था. विपक्षी पार्टियों ने जीरो आवर में सदन से वॉकआउट कर लिया. राज्य सरकार ने सदन को भरोसा दिलाया कि इस मामले को हरियाणा में गंभीरता से लिया जा रहा है और अभी तक तीन लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है.

अपने बेटे की सुरक्षा को लेकर चिंतित कय्यूम ने उसके वार्ड की सुरक्षा की मांग की और साथ ही साथ अपने बेटे को दाढ़ी हटा लेने की भी सलाह दी.

कय्यूम ने कहा कि वह एक धार्मिक लड़का है. वह नमाज अदा करना नहीं छोड़ सकता लेकिन मैंने उसे दाढ़ी शेव करा लेने की सलाह दी है.

कय्यूम ने इस तथ्य पर जोर देते हुए कहा कि हर विश्वविद्यालय में जम्मू-कश्मीर के छात्र हैं और यदि उन्हें धर्म के आधार पर देखा जाएगा तो यह काम नहीं कर पाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि अन्य राज्यों के छात्र भी जम्मू-कश्मीर में पढ़ाई करते हैं.

इस मामले पर बोलते हुए महेंद्रगढ़ डीएसपी ने उन आरोपों को खारिज किया है जिसमें कहा जा रहा है कि कश्मीरी होने के नाते छात्रों पर हमला किया गया. उन्होंने कहा कि छात्रों पर उनकी पहचान के वजह से हमला नहीं किया गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi