S M L

उबर ड्राइवर ने महिला को कार में किया लॉक, की जबरदस्ती

आरोपी उबर की गाड़ी चलाता था, जबकि वो रजिस्टर्ड ड्राइवर नहीं था, न ही उसके पास ड्राइविंग लाइसेंस था

Updated On: Mar 13, 2018 11:26 AM IST

FP Staff

0
उबर ड्राइवर ने महिला को कार में किया लॉक, की जबरदस्ती

उबर कैब सर्विस फिर से बुरी खबर के लिए चर्चा में है. दिल्ली में 22 साल के एक उबर ड्राइवर पर एक महिला को कार में बंद करके उसके साथ जबरदस्ती करने का आरोप लगा है. कंपनी ने आरोपी के खिलाफ कार्रवाई करने में पुलिस की मदद करने का आश्वासन दिया है.

हरियाणा पुलिस ने बताया कि रोहिणी के सेक्टर-3 में रहने वाली 29 साल की महिला ने 9 मार्च को हरियाणा के कुंडली से रोहिणी जाने के लिए उबर पर एक कैब बुक किया. यहां वो एक एमएनसी में काम करती हैं. पुलिस के मुताबिक, महिला ने बताया कि जब कैब आई तो उन्होंने देखा कि गाड़ी पर कॉमर्शियल नंबरप्लेट की बजाया सफेद नंबरप्लेट लगा हुआ था. और गाड़ी के कांच भी टिंटेड थे.

महिला का शक तब और बढ़ गया, जब उन्होंने देखा कि ड्राइवर का चेहरा ऐप पर दिए गए ड्राइवर की तस्वीर से मेल नहीं खा रहा था.

महिला ने बताया कि ड्राइवर नशे में लग रहा था. उसने गाड़ी का रूट भी बदल दिया और नरेला की तरफ जाने लगा. महिला ने एक जगह ट्रैफिक सिग्नल पर उतरने की कोशिश की तो उसने सेंट्रल लॉक लगा दिया और उसे धमकी दी. इसके बाद महिला ने जीटीके डिपो के पास एक सीएनजी स्टेशन के करीब गाड़ी की रफ्तार धीमे होने पर गाड़ी से कूदकर खुद को बचाया. इसके बाद ड्राइवर गाड़ी लेकर भाग गया.

9-10 मार्च को हुए पड़ताल के दौरान पुलिस को सोनीपत के गांव जांटी कलां में वो गाड़ी मिली, इस गाड़ी में वो ड्राइवर नशे की हालत में मिला.

पुलिस ने उसकी पहचान गन्नौर, हरियाणा के संजीव उर्फ संजू के रूप में की. जांच में पता चला कि वही ये गाड़ी चलाता था, जबकि वो रजिस्टर्ड ड्राइवर नहीं था, न ही उसके पास ड्राइविंग लाइसेंस था. उसकी गाड़ी पर कॉमर्शियल नंबरप्लेट भी नहीं लगा था.

दरअसल, इस घटना से उबर की एक और भयंकर कमी सामने आई. कंपनी ने जिस शख्स को ड्राइवर के तौर पर रजिस्टर कर रखा है, उसी ने आरोपी को गाड़ी चलाने को दे रखा था. पुलिस घटना में दूसरे शख्स की भूमिका पर भी जांच कर रही है. इसके लिए उसने कंपनी से भी जवाब मांगा है.

कंपनी ने कहा है कि घटना में शामिल ड्राइवरों ने कंपनी के अग्रीमेंट का उल्लंघन किया है. ऐसी हरकत हमारे पार्टनर्स और ग्राहकों को खतरे में डालती है, जो बिल्कुल सहन नहीं किया जाएगा.

कंपनी ने बताया कि उसने रजिस्टर्ड ड्राइवर का ऐप का एक्सेस हटा दिया है और किसी दूसरे व्यक्ति को कैब से ट्रिप्स लेने और और ऐप में एक्सेस देने के लिए उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi