S M L

रेवाड़ीः बर्थ सर्टिफिकेट में बदल गया बच्चा, दंपति ने अस्पताल पर लगाया आरोप

दंपति के मुताबिक यदुवंशी अस्पताल में 19 सितंबर को उनके बच्चे की डिलीवरी हुई थी, करीब एक घंटे बाद बताया गया कि लड़की हुई है लेकिन 23 सितंबर को जब वह उसका जन्म प्रमाण पत्र बनवाने असप्ताल पहुंचे तो पता चला कि अस्पताल के रिकॉर्ड में लड़का दर्शाया गया है

Updated On: Nov 02, 2018 04:14 PM IST

FP Staff

0
रेवाड़ीः बर्थ सर्टिफिकेट में बदल गया बच्चा, दंपति ने अस्पताल पर लगाया आरोप
Loading...

हरियाणा के रेवाड़ी का एक निजी अस्पताल विवादों में घिर गया है. यदुवंशी हॉस्पिटल से जुड़ा एक सनीसनी खेज मामला सामने आया है. एक दंपति का आरोप है कि अस्पताल ने उनका बच्चा बदल दिया. दंपति के मुताबिक यदुवंशी अस्पताल में 19 सितंबर 2018 को उनके बच्चे की डिलीवरी हुई थी. कई बार पूछने पर करीब एक घंटे बाद बताया गया कि लड़की हुई है लेकिन 23 सितंबर 2018 को जब वह उसका जन्म प्रमाण पत्र बनवाने अस्पताल पहुंचे तो पता चला कि अस्पताल के रिकॉर्ड में लड़का दर्शाया गया है. दंपति का कहना है कि अस्पताल प्रबंधन कुछ भी कहने से बच रहा है और उन्होंने इंसाफ के लिए सीएम से गुहार लगाई है.

पत्नी ने रात के 9.30 बजे बच्चे को जन्म दिया

वहीं इस मामले में पुलिस का कहना है कि दंपति के शिकायत के आधार पर जांच की जा रही है. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दंपति को दी गई बच्ची और उनके खून के सेंपल्स को डीएनए टेस्ट के लिए फॉरेंसिक लैब में भेजा गया है. टॉइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक सेल्समैन महेश ने बताया कि 19 सितंबर को वह अपनी पत्नी पुनीता को लेकर रेवाड़ी के यदुवंशी अस्पताल में पहुंचा था जहां उसकी पत्नी ने रात के 9.30 बजे बच्चे को जन्म दिया. उन्हें बताया गया कि बेटी पैदा हुई है. महेश ने बताया कि अस्पताल प्रबंधन ने कहा कि 23 सितंबर को उनकी बेटी का जन्मप्रमाण पत्र उन्हें मिल जाएगा.

पुलिस को सीसीटीवी फुटेज भी सौंप दिया गया है

इसके बाद जब महेश 23 सितंबर को बर्थ सर्टिफिकेट लेने पहुंचे तो पता चला कि सारे दस्तावेज लड़के के जन्म के थे. यहां तक कि अस्पताल के रिकॉर्ड में भी लड़के के जन्म की ही बात दर्ज थी. दंपति के पड़ोसी छांगे ने कहा कि उन्हें पहले से ही शक था क्योंकि डिलीवरी के बाद जब उन्हें बच्ची सौंपी गई थी तो वह 1 या 2 दिन की बच्ची जैसे लग रही थी. वहीं अस्पताल के मालिक और गायनियोकोलॉजिस्ट डॉ. नीरज यादव ने कहा कि उन्होंने पुलिस को इस मामले से जुड़े सारे सबूत सौंप दिए हैं. इसमें अस्पताल की कोई भूल नहीं है. यह सिर्फ दस्तावेजों में होने वाली गलती है. पुलिस को सीसीटीवी फुटेज भी सौंप दिया गया है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi