live
S M L

अजनबी फिल्म देखकर रची कत्ल की साजिश

17 लाख रुपए की टोयोटा की अल्टिस गाड़ी में डाल कर जला दिया था.

Updated On: Dec 29, 2016 09:53 PM IST

FP Staff

0
अजनबी फिल्म देखकर रची कत्ल की साजिश

हरियाणा में हत्या के एक आरोपी ने फिल्मी तरीके से अपनी ही मौत की साजिश रची थी. वो भी सिर्फ इंश्योरेंस का पैसा पाने के लिए. हरियाणा में कैथल के कक्योर माजरा गांव के जंगल में नौकर की मर्डर मिस्ट्री में सबूत मिटाने के लिए आरोपी ने शव सहित कार को जला दिया.

दरअसल, 20 नवंबर को पुलिस को कक्योर माजरा के जंगल में अज्ञात युवक का जला हुआ शव और जली हुई कार मिली थी. पुलिस ने अब इस गुत्थी को सुलझा लिया है.

कर्जा उतारने के लिए चाहिए था पैसा

इस मामले में पुलिस ने दुब्बल निवासी बलजीत को गिरफ्तार कर लिया है. उसने आरोप कबूल भी कर लिया है.

बलजीत प्रॉपर्टी का कारोबार करता था और उस पर लोगों की काफी देनदारी थी. इंश्योरेंस पॉलिसी का फ़ायदा उठाने के लिए उसने एक प्लान बनाया, जिसमें उसने अपनी ही मौत दिखाकर इंश्योरेंस का पैसा लेना चाहता था.

17 लाख की कार में जलाया नौकर को

बलजीत ने करीब 3.25 करोड़ रुपए की पॉलिसी बनवाई हुई है. ये पॉलिसी उसने एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, एलआईसी, आईसीआईसीआई बैंक, श्रीराम एलआईसी, न्यू जीवन आनंद बैंकों से जीवन बीमा के रूप में ली हैं.

सभी पॉलिसी में उसने अपनी पत्नी को नॉमिनी बनाया हुआ था. इस पॉलिसी को पाने के लिए उसने नौकर की हत्या करने के बाद उसे अपनी  17 लाख रुपए की टोयोटा की अल्टिस गाड़ी में डाल कर जला दिया था.

पुराने नोट बदलने का बनाया था बहाना

नोटबंदी का हवाला देकर आरोपी ने गांव के ही एक युवक संदीप जो उसके घर नौकर का काम करता था को अपने विश्वास में लिया.

उससे कहा कि दिल्ली की एक पार्टी पुरानी करेंसी लेकर आ रही है, उसकी करेंसी बदलनी है. उसको भी वो इसका हिस्सा देगा. नौकर भी उसके लालच में आ गया.

हत्या में इस्तेमाल की गई पिस्तौल

हत्या में इस्तेमाल की गई पिस्तौल

उसके बाद आरोपी बलजीत ने कक्योर माजरा के जंगल में ले जाकर नौकर संदीप को गोली मारकर हत्या कर दी और उसके शव को अपनी गाड़ी में रख कर आग लगा दी. गाड़ी की नम्बर प्लेट साइड में फेंक दिया ताकि यह लगे की लाश बलजीत की है और घरवाले आसानी से इंश्योरेंस का क्लेम ले सकें.

साधू के भेष में राजस्थान में रहने लगा

गिरफ्तार किए गए आरोपी ने खुद का कत्ल किए जाने की साजिश रचते हुए अपने ही गांव के एक युवक को नोटबंदी के दौरान दिल्ली की एक पार्टी की करेंसी बदलने का झूठा बहाना बनाकर सारी नगदी ऐंठने के जाल में फांस लिया.

करेंसी बदलने के लिए वह अपने नौकर को साथ में ले गया और उसकी गोली मारकर हत्या कर दी और शव सहित अपनी गाड़ी को आग के हवाले कर दिया और बाद में साधु के भेष में राजस्थान में छिप कर रहने लगा.

वारदात वाली जगह से मिले गोलियों के खोल

वारदात वाली जगह से मिले गोलियों के खोल

फिल्मी स्टाइल में बनाई हत्या की योजना

बलजती ने बताया कि उसने बॉलीवुड की फिल्म 'अजनबी' और टीवी सीरियल 'सावधान इंडिया' से प्रभावित होकर अपनी हत्या किए जाने का ड्रामा रचने के लिए वारदात को अंजाम दिया, ताकी कुछ वर्ष बाद वह अपने परिवार वालों की मार्फत अपनी विभिन्न बैंकों तथा एलआईसी में करवाई गई अपनी कई लाइफ इंश्योरेंस की 3 करोड़ 25 लाख रुपया क्लेम नकदी लेकर अय्याशी का जीवन-यापन कर सके.

बलजीत ने राजस्थान के एक होटल में अपनी आईडी के लिए आधार कार्ड नंबर देने के कारण पूरी वारदात का खुलासा हुआ. आरोपी के अनुसार उसने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि वो आधार कार्ड के कारण पकड़ा जाएगा और उसकी एक छोटी सी गलती से पूरा प्लान चौपट हो गया.

शातिराना अंदाज में मर्डर

कैथल के पुलिस अधीक्षक सुमेर प्रताप सिंह ने ब्लाइंड मर्डर मिस्ट्री के केस को सुलझाते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिये बताया कि कैसे शातिराना अंदाज में इस पूरी वारदात को अंजाम दिया गया.

साभार: प्रदेश18

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi