S M L

खट्टर सरकार ने छात्रों से पूछा- क्या माता-पिता का धंधा है 'गंदा'?

गुरुग्राम और पंचकूला समेत पूरे हरियाणा में स्कूलों ने छात्रों को दो पन्नों का फॉर्म दिया है, जिसमें उनसे यह सारी सूचनाएं मांगी गई हैं

Updated On: Apr 11, 2018 07:53 PM IST

FP Staff

0
खट्टर सरकार ने छात्रों से पूछा- क्या माता-पिता का धंधा है 'गंदा'?

हरियाणा सरकार के शिक्षा विभाग ने प्राइवेट स्कूलों में छात्रों से उनके परिवार, जाति, धर्म, आधार कार्ड, बैंक एकाउंट के साथ-साथ यह पूछकर सबको चौंका दिया है कि क्या उनके मां-बाप किसी 'अस्वच्छ' पेशे में तो नहीं लगे हैं.

गुरुग्राम और पंचकूला समेत पूरे हरियाणा में स्कूलों ने छात्रों को दो पन्नों का फॉर्म दिया है, जिसमें उनसे यह सारी सूचनाएं मांगी गई हैं.

राज्य सरकार के आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि उन्हें नहीं मालूम कि इस फॉर्म को किसने जारी किया है. खास बात है कि इस फॉर्म में हरियाणा सरकार का आधिकारिक लोगो है.

प्राइवेट स्कूल अथॉरिटी का कहना है कि यह सूचना राज्य सरकार के शिक्षा विभाग द्वारा मांगी गई है न कि स्कूल द्वारा. एक और स्कूल का कहना है कि यह फॉर्म हरियाणा सरकार के डायरेक्टरेट ऑफ स्कूल एजुकेशन से आया है.

Haryana CM Khattar

मनोहर लाल खट्टर

कांग्रेस ने इसे लेकर मनोहर लाल खट्टर सरकार पर निशाना साधा है. पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, 'खट्टर सरकार ने फिर वही किया. छात्रों को 'अछूत' और उनके माता-पिता के पेशे को 'अस्वच्छ' ठहराया.'

उन्होंने कहा कि खट्टर सरकार ने 100 बिंदुओं वाला फॉर्म जारी किया है. वास्तव में यह छात्रों और उनके माता-पिता पर निगरानी रखने जैसा है. जिस तरह से उनकी व्यक्तिगत सूचना मांगी जा रही है वो आपत्तिजनक है. माता-पिता के पेशे को अस्वच्छ कहना बहुत ही बेतुका है. निगरानी करना बीजेपी के डीएनए में शामिल है.

एक अभिभावक ने कहा कि छात्रों से उनके जाति और धर्म के बारे मे पूछा जाना दुखद है. अगर किसी छात्र के माता-पिता अलग-अलग धर्मों के हों, जैसे इस क्षेत्र में सिख और हिंदू समुदाय में शादी आम बात है, तो छात्र अपना धर्म क्या बताएगा. फिर छात्रों के बैंक डिटेल की आखिर क्या जरूरत है. फॉर्म में छात्रों से आनुवांशिक बीमारियों के बारे में भी जानकारी देने को कहा गया है. एक दूसरे अभिभावक ने कहा कि उन्हें इतनी सारी जानकारियों की क्या जरूरत है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi