विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

हरियाणा के स्कूलों की तस्वीर बदलने में लगी है ये संस्था

यह फोरम 2009 के शिक्षा अधिकार कानून को ठीक से लागू करवाने की दिशा में काम कर रहा है

FP Staff Updated On: Dec 10, 2017 08:25 PM IST

0
हरियाणा के स्कूलों की तस्वीर बदलने में लगी है ये संस्था

हरियाणा एजुकेशन फोरम किसी साधारण फोरम की तरह नहीं है. यह फोरम 2013-14 से सरकार, एनजीओ, विशेषज्ञों, कॉरपोरेट्स और नागरिकों को शिक्षा व्यवस्था में बदलाव और बेहतरी के लिए एक-दूसरे से विचारों के आदान-प्रदान, चुनौतियों, संभावनाओं और समाधान की खोज करने के लिए एक मंच प्रदान करता है.

इस साल एस एम सहगल फाउंडेशन और जेसीबी (लेडी बैंफोर्ड चैरिटेबल ट्रस्ट) के साथ मिलकर इस दिशा में प्रयास किया गया. इस प्रयास का यह उद्देश्य है कि हरियाणा के स्कूली शिक्षा की बेहतरी के लिए स्कूल मैनेजमेंट कमिटी को एक ऐसा मंच उपलब्ध करवाया जाए, जिससे स्कूलों का कामकाज बेहतर हो.

क्या है फोरम का मकसद?

यह फोरम 2009 के शिक्षा अधिकार कानून को ठीक से लागू करवाने की दिशा में काम कर रहा है. इस कानून के तहत 6 से 14 साल के बच्चों के लिए मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा का प्रावधान किया गया है. इस कानून के तहत स्कूल मैनेजमेंट कमिटियों का गठन किया गया है स्कूलों के फंड के उपयोग और कामकाज पर नजर रखती है. इस फोरम की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसने स्कूल मैनेजमेंट कमिटी में 50 फीसदी महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित की है. यह फोरम हरियाणा के ग्रामीण इलाकों के स्कूलों के कामकाज पर खास नजर रखती है.

सहगल फाउंडेशन के ग्रामीण सुशासन कार्यक्रम के प्रोग्राम लीडर सौरभ श्रीवास्तव का कहना है, 'शिक्षा की बेहतर गुणवत्ता के लिए विभिन्न हितधारकों को एक साथ एक मंच पर लाना ही फोरम का उद्देश्य है. इस फोरम में विभिन्न हितधारकों के होने से सभी एक दूसरे के अनुभव, ज्ञान और फीडबैक से समस्याओं का समाधान प्राप्त करते है. इसके अलावा संगठनों और अधिकारियों के बीच बातचीत, सहयोग और आपसी तालमेल की भावना भी बनती है जो शिक्षा की स्थिति में सुधार का एक स्तंभ साबित होती है.'

महिलाओं को भी मिला मौका

इस कार्यशाला के माध्यम से एसएमसी सदस्यों खासकर महिलाओं को अपनी बात साझा करने का मौका मिलता है. एसएमसी कार्यकारी निकाय में 50% महिलाओं की भागेदारी होती है. इस एक दिवसीय कार्यशाला के सफलतापूर्वक समापन पर शिक्षा विभाग, हरियाणा सरकार और सहगल फाउंडेशन के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हुए, ताकि दोनों साथ मिलकर हरियाणा में शिक्षा को ओर बेहतर बना सकें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi