S M L

शर्मनाक! कांग्रेस नेता की रैली ने छीनी 7 महीने के शिशु की जिंदगी, 45 मिनट फंसी रही एंबुलेंस

इस शर्मनाक घटना पर अफसोस जताने की बजाए कांग्रेस नेता ने पुलिस और प्रशासन को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है

Updated On: Aug 23, 2018 04:30 PM IST

FP Staff

0
शर्मनाक! कांग्रेस नेता की रैली ने छीनी 7 महीने के शिशु की जिंदगी, 45 मिनट फंसी रही एंबुलेंस

नेता जी की रैली के आगे सात महीने का एक बच्चा जिंदगी से लड़ रही जंग हार गया. मामला हरियाणा के सोनीपत का है. यहां मंगलवार को कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर की साइकिल रैली निकल रही थी. और रोड पर जाम लगने के कारण एंबुलेंस को निकलने का रास्ता नहीं मिला. इस एंबुलेंस में सात महीने के एक बच्चे को इलाज के लिए तुंरत अस्पताल ले जाया जा रहा था.

कांग्रेस नेता की के चलते एंबुलेंस करीब आधे घंटे तक जाम में फंसी रही थी. एंबुलेंस के समय पर अस्पताल न पहुंच पाने के कारण बच्चे को इलाज नहीं मिल पाया. दर्द से बिलख रहे बच्चे ने दम तोड़ दिया. वहीं अब नवजात के माता-पिता न्याय की मांग कर रहे हैं. एम्बुलेंस में बतौर हेल्पर तैनात शख्स ने बताया कि उन्हें कॉल आया था कि एक 7 महीने के बच्चे की तबीयत खराब है जिसे कुंडली से अस्पताल में लेकर जाना था.

वहीं इस शर्मनाक घटना पर अफसोस जताने की बजाए कांग्रेस नेता ने पुलिस और प्रशासन को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है. तंवर ने कहा कि जब हमारे लोगों को पता चला कि ट्रैफिक में एंबुलेंस फंसी है, हमने रास्ता छोड़ दिया था. सरकार, स्थानीय प्रशासन और पुलिस को इसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिए. एंबुलेंस में डॉक्टर, नर्स और यहां तक की ऑक्सीजन की ठीक सप्लाई भी नहीं थी.

इस मामले पर हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा है कि मुख्यमंत्री ने एसपी रोहतक को जांच के आदेश दे दिए हैं. मैंने भी डीजी हेल्थ सर्विसेस से आज रिपोर्ट सौपने को कहा है. हम इस मामले में एफआईआर दर्ज कर कड़ी कार्रवाई करेंगे.

बच्चे के पिता ने बताया कि डॉक्टर ने हमे सोनीपत रेफर किया था. हमारा बच्चा एंबुलेंस में था, लेकिन कांग्रेस पार्टी की रैली के कारण एंबुलेंस 45 मिनट तक जाम मं फंसी रही. एंबुलेंस में ऑक्सीजन की सुविधा नहीं थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi