S M L

हरियाणा: छेड़छाड़ या रेप करने पर जब्त होगा लाइसेंस, नहीं मिलेगी पेंशन

सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि अगर किसी व्यक्ति के खिलाफ महिलाओं से जुड़े अपराध की चार्जशीट दाखिल होती है तो उसे सभी सरकारी सुविधाओं से वंचित कर दिया जाएगा.

FP Staff Updated On: Jul 12, 2018 09:38 PM IST

0
हरियाणा: छेड़छाड़ या रेप करने पर जब्त होगा लाइसेंस, नहीं मिलेगी पेंशन

हरियाणा सरकार ने राज्य में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कई बड़े फैसले किए हैं. खट्टर सरकार पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए वकील की नियुक्ति के लिए 22 हजार रुपए देगी. इसके अलावा छेड़छाड़ की घटनाओं पर भी सरकार ने सख्त कदम उठाने के निर्देश दिए हैं.

सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि अगर किसी व्यक्ति के खिलाफ महिलाओं से जुड़े अपराध की चार्जशीट दाखिल होती है तो उसे सभी सरकारी सुविधाओं से वंचित कर दिया जाएगा. इसके अलावा जो भी व्‍यक्‍ति छेड़छाड़ और रेप के मामलों में आरोपी होगा, उसकी पेंशन, ड्राइविंग लाइसेंस और हथियार का लाइसेंस वापस ले लिया जाएगा. वहीं दोष साबित होने पर सभी सुविधाएं स्‍थायी रूप से छीन ली जाएंगी.

जांच अधिकारी को छेड़छाड़ के मामलों में अपनी रिपोर्ट 15 दिनों के भीतर जमा करनी होगी. अगर तय समय में जांच अधिकारी रिपोर्ट नहीं सौंपता तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. रेप के मामलों को तेजी से ट्रैक किया जाएगा और जांच पूरी होने के 30 दिनों के भीतर कार्रवाई शुरू की जानी चाहिए.

सरकार ने यह भी ऐलान किया कि दुर्गा शक्ति पीसीआर को महिलाओं की सुरक्षा के लिए तैनात किया जाएगा और हरियाणा के विभिन्न जिलों में भेजा जाएगा. हरियाणा राज्य में 6 फास्ट ट्रैक कोर्ट स्थापित किए जाएंगे, जो उच्च न्यायालय को अपनी रिपोर्ट सौंपेंगे.

हरियाणा उच्च न्यायालय की देखरेख में फास्ट ट्रैक कोर्ट काम करेगी. हर मामले में समय सीमा तय की जाएगी. जिससे पीड़िता को समय पर इंसाफ मिल सके.

(साभार: न्यूज18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi