S M L

लड़कियों के लिए नर्क है हरियाणा, 6 दिन में रेप के 8 मामले

महिलाओं और लड़कियों के लिए घर से बाहर कदम रखना मुश्किल हो गया है. गुरुवार को हरियाणा में रेप के तीन और मामले सामने आए हैं

Updated On: Jan 19, 2018 02:05 PM IST

FP Staff

0
लड़कियों के लिए नर्क है हरियाणा, 6 दिन में रेप के 8 मामले

हरियाणा में महिलाओं को लेकर वीभत्स आपराधिक घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं. महिलाओं और लड़कियों के लिए घर से बाहर कदम रखना मुश्किल हो गया है. गुरुवार को हरियाणा में रेप के तीन और मामले सामने आए हैं. जिससे रेप की घटनाओं का ये आंकड़ा 6 दिन में आठ का हो गया है. एक के बाद एक रेप के इन मामलों ने हरियाणा में लॉ एंड आर्डर की भी पोल खोल दी है.

कहां-कहां हुई रेप की घटनाएं

- चरखी दादरी जिले के मनकावास गांव में आठवीं क्लास में पढ़ने वाली एक दलित लड़की के साथ रेप हुआ. लड़की का उसी के घर के सामने से अपहरण किया गया और चाकू की नोक पर चार लोगों ने उसके साथ बलात्कार किया.

- रेप का एक और मामला सामने आया फतेहाबाद जिले में, जहां 20 साल की एक महिला के साथ बोथन गांव में दो युवकों ने रेप किया.

- गुरुग्राम के फारुखनगर में गैंगरेप की वारदात हुई. जहां बीए सेकेंड ईयर की छात्रा के साथ चलती गाड़ी में रेप हुआ.

- हिसार में तीन साल की एक बच्ची के साथ 14 साल के लड़के के ने रेप किया.

- जींद में 50 साल के आदमी ने 10 साल की एक बच्ची के साथ दरिंदगी की. इस मामले में बच्ची के साथ दिल्ली के निर्भया गैंगरेप मामले जैसी ही हैवानियत हुई.

- पिंजोर में दो दलित लड़कियों के साथ बलात्कार किया गया और उनकी हत्या भी कर दी गई है.

- पानीपत में 11 साल की एक बच्ची के साथ रेप हुआ. पुलिस ने बताया कि दो लोगों ने उसे अगवा कर उसके साथ बलात्कार किया.

राज्य में बढ़ते रेप मामलों और लॉ एंड ऑर्डर की बिगड़ती स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भी आखिरकार अपनी चुप्पी तोड़ी. उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाएं दुखद हैं. हम सख्त कार्रवाई करेंगे और जहां चूक हो रही है, उसे सुधारेंगे. हमने पुलिस प्रशासन में बदलाव किए हैं और कुछ अधिकारियों के तबादले भी किए हैं. मैं राजनीतिक दलों से इस मुद्दे पर राजनीति न करने की अपील करता हूं.

उन्होंने आगे कहा कि हमने डायल 100 प्रोजेक्ट शुरू किया है और हम 1090 प्रोजेक्ट भी शुरू करेंगे, ताकि जिन महिलाओं को खतरा है, वो तुरंत पुलिस को संपर्क कर सकें. साथ ही हमने इस तरह के मामलों में तुरंत कार्रवाई के लिए स्पेशल कोर्ट भी गठित किए हैं.

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भुपिंदर सिंह हुड्डा ने भी राज्य की कानून व्यवस्था की स्थिति को चिंताजनक बताया है. उन्होंने बढ़ते रेप मामलों को लेकर कहा है कि हमने राज्य की बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर राज्यपाल से मुलाकात की है. एक के बाद एक हुई रेप की घटनाओं ने हमारा सिर शर्मिंदगी से झुका दिया है. मुख्यमंत्री को नैतिक आधार पर इस्तीफा देना चाहिए. हमने राज्यपाल से कहा है कि अगर सीएम इस्तीफा नही देते हैं, तो राज्य राष्ट्रपति शासन लागू किया जाए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता
Firstpost Hindi