S M L

बीजेपी के सांसद आखिर क्यों महिला आयोग की तरह पुरुष आयोग मांग रहे हैं

इससे पहले जब सांसद ने पुरुष आयोग गठित करने की बात कही थी तो उन्हें 160 पुरुषों का समर्थन मिला था जिन्होंने वाराणसी में आकर अपनी तलाकशुदा पत्नियों का अंतिम संस्कार किया था

Updated On: Sep 03, 2018 12:54 PM IST

FP Staff

0
बीजेपी के सांसद आखिर क्यों महिला आयोग की तरह पुरुष आयोग मांग रहे हैं

बीजेपी सांसद हरिनारायण राजभर ने 3 अगस्त 2018 को जब संसद में पुरुषों का आयोग गठित करने की बात कही थी तो अधिकतर लोकसभा सांसदों ने उनका मजाक बनाया था. अब एकबार फिर हरिनारायण राजभर ने पुरुषों के आयोग को लेकर बयान जारी किया है. उन्होंने कहा है कि राष्ट्रीय महिला आयोग की तरह ही पुरुषों के लिए भी एक आयोग का गठन किया जाना चाहिए. पुरुषों को भी एक ऐसे प्लेटफॉर्म की जरूरत है. आज के समय में ऐसी बहुत सी घटनाएं देखी जाती हैं जहां पर पुरुष पत्नियों से पीड़ित रहते हैं. किसी के साथ अन्याय नहीं होना चाहिए.

इससे पहले भी जब सांसद ने पुरुषों का आयोग गठित करने की बात कही थी तब उन्हें उन160 पुरुषों का समर्थन मिला था जिन्होंने यूपी के वाराणसी में आकर अपनी तलाकशुदा पत्नियों का अंतिम संस्कार किया था. हैरानी की बात यह थी कि उन सभी लोगों की पत्नियां जिंदा थीं. इन पुरुषों ने पत्नियों से अलग होने की खुशी में तांत्रिकों से पूजन भी कराया था.

वहीं पुरुषों का आयोग गठित करने की बात पर पहले एसआईएफएफ के फाउंडर राजेश वखरिया ने कहा था कि पतियों और उनके अधिकारों को बचाने के लिए इस देश में कोई कानून नहीं है. दहेज विरोधी कानून के नाम पर पुरुषों का शोषण होता है.उन्होंने ये भी कहा था कि पति अपनी पत्नी से मानसिक प्रताड़ित होकर सूइसाइड भी कर लेता है और ये बहुत सामान्य बात है. उन्होंने कहा था सांसद हरिनारायण राजभर से उन्हें प्रेरणा मिली है कि अब पुरुषों के लिए कुछ हो सकता है. वह लोग भी पीएम नरेंद्र मोदी को ज्ञापन देकर मांग करेंगे कि पुरुष आयोग जल्द से जल्द बनाया जाए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi