S M L

Janmashtami 2018: दही हांडी के दौरान इन बातों का रखें खास खयाल

दही-हांडी का ये त्योहार जितना मजेदार होता है उतना ही खतरनाक भी. इसलिए जरूरी है कि इस दौरान उचित सावधानियां बरतें

Updated On: Sep 03, 2018 12:35 PM IST

FP Staff

0
Janmashtami 2018: दही हांडी के दौरान इन बातों का रखें खास खयाल
Loading...

जन्माष्टमी के खास मौके पर आज यानी 3 सितंबर को पूरे देश में दही हांडी का त्योहार बड़े धूम धाम से मनाया जा रहा. इस दिन खास कर महाराष्ट्र में अलग ही नजारा दिखाई देता है. लोग एक के बाद कई लेयर में ऊंचे-ऊंचे पिरामिड बनाकर दही हांडी की मटकी को फोड़ते हैं. दही हांडी के उत्सव के दौरान जो लड़का सबसे ऊपर खड़ा होता है उसे गोविंदा कहा जाता है. वहीं समूह के बाकि लड़कों को मंडल कहा जाता है.

दही-हांडी का ये त्योहार जितना मजेदार होता है उतना ही खतरनाक भी. इसलिए जो लोग दही-हांडी के इस समारोह में भाग लेते हैं, उनके लिए जरूरी है कि वे इस दौरान उचित सावधानियां बरतें. ऐसे में हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे टिप्स जो दही हांडी के समारोह में भाग लेते वक्त जरूर ध्यान में रखने चाहिए

1. इस समारोह में केवल वही लोग भाग लें जो आसानी से छलांग लगाने या उचाईं पर चढ़ने से डरते न हो. साथ ही जिनका बॉडी बैलेंस पर अच्छा कंट्रोल हो.

2. आयोजन के दौरान बनाया पिरामिड केवल 7-8 लेयर के बीच ही बनना चाहिए. इससे ज्यादा लेयर का पिरामिड बनाना खतरनाक हो सकता है.

3. उंचाई पर लटकाई गई दही हांडी की मटकी को 20 फीट से ज्यादा ऊपर न हो.

4. कोशिश करें कि इस आयोजन में 18 साल से कम उम्र के बच्चे हिस्सा न लें. और अगर लें तो मुख्य आयोजन से पहले वो इसकी प्रैक्टिस कर लें.

5. इसके अलावा एक आदमी समारोह पर कड़ी निगरानी रखने के लिए  भी नियुक्त किया जाना चाहिए ताकि कोई भी अप्रिय घटना न घटे.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi