S M L

भारत के इन 5 राज्यों का आज है जन्मदिन, जान लें इनका रोचक इतिहास

आज ही के दिन देश के 5 राज्यों का जन्म हुआ था, इन राज्यों की अपनी अपनी अलग अहमियत है

Updated On: Nov 01, 2018 01:19 PM IST

FP Staff

0
भारत के इन 5 राज्यों का आज है जन्मदिन, जान लें इनका रोचक इतिहास
Loading...

1 नवंबर का दिन भारत के लिए बहुत खास होता है क्योंकि आज ही के दिन देश के 5 राज्यों का जन्म हुआ था. इन राज्यों की अपनी अपनी अलग अहमियत है. इन राज्यों में केरल, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और हरियाणा का नाम शामिल है. इन सभी राज्यों की अपनी अलग पहचान है. आज इन पांच अहम राज्यों का जन्मदिन है. आइए आपको बताते हैं उनके बारे में.

केरल-

केरल का जन्म 1 नवंबर 1956 में हुआ था. साल 1956 से पहले केरल 3 प्रोविंस में बंटा था मालाबार, कोचीन और ट्रेवनकोर. केरल को उसका नाम वहां के पहले राजा केरालियन थांमबोरन से मिला है. लगभग 3.5 करोड़ की आबादी वाला ये छोटा सा राज्य साक्षरता के मामले में सबसे आगे है. राज्य का नाम केरल कैसे रखा गया इसका कोई जवाब मौजूद नहीं है. कहा जाता है कि चेर – स्थल, कीचड़ और अलम-प्रदेश शब्दों के मेल से चेरलम बना था, जो बाद में केरल बन गया. वहीं केरल शब्द का एक और अर्थ है- वह भूभाग जो समुद्र से निकला हो. समुद्र और पर्वत के संगम स्थान को भी केरल कहा जाता है.

कर्नाटक-

दक्षिण भारत के सभी कन्नड बोलने वाले क्षेत्रों को मिलाकर कर्नाटक को बनाया गया. 1 नवंबर 1956 में कर्नाटक का जन्म हुआ और इस दिन हर साल वहां छुट्टी रहती है. कर्नाटक में इस दिन को बड़े धूमधाम से मनाया जाता है. कर्नाटक का अर्थ है काली या ऊंची भूमि का प्रदेश. दरअसल, कर्नाटक के दक्कन में पठारी भूमि है, जहां काली मिट्टी पाई जाती है. अंग्रेजों के राज में कर्नाटक की जगह कार्नेटिक शब्द का इस्तेमाल किया जाता था.

छत्तीसगढ़-

मध्यप्रदेश के 16 छत्तीसगढ़ी बोलने वाले दक्षिणपूर्वी जिलों को अलग कर छत्तीसगढ़ बनाया गया था. इस राज्य का जन्म 2000 में हुआ था. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर है. छत्तीसगढ़ में कुल 27 जिले हैं. भारत की प्राचीन संस्कृति से जुड़ा छत्तीसगढ़ वैदिक और पौराणिक काल से विभिन्न संस्कृतियों के विकास का प्रमुख केंद्र रहा है. यहां के प्राचीन मंदिरों, हिंदू और बौद्ध संस्कृति की हर काल में अमिट छाप रही है. 2.55 करोड़ लोगों की आबादी वाला छत्तीसगढ़ प्राकृतिक संसाधनों के लिए भी भरपूर है.

मध्य प्रदेश-

पहले भोपाल भारत का एक राज्य हुआ करता था. वर्ष 1956 में मध्य प्रदेश का जन्म हुआ. 1952 से लेकर 1956 तक शंकर दयाल शर्मा भोपाल के मुख्यमंत्री रहे थे. छोटी-छोटी रियासतों से मिलकर बना मध्य प्रदेश अपनी संस्कृति के साथ-साथ पर्यटन के लिए भी मशहूर है. ग्वालियर, मुरैना, टीकमगढ़, खजुराहो, जबलपुर, उज्जैन, इंदौर, भोपाल, सांची आदि मध्य प्रदेश के ऐसे स्थान हैं, जहां हमेशा पर्यटकों का जमावड़ा लगा रहता है. 7.26 करोड़ लोगों की आबादी वाला ये राज्य सांस्कृतिक और धार्मिक पर्यटन स्थलों के लिए मशहूर है.

हरियाणा-

1 नवंबर 1966 में पूर्वी पंजाब से हरियाणा राज्य का जन्म हुआ. क्षेत्र के आधार पर यह राज्य भारत में 21 वें स्थान पर है. हरियाणा स्थित फरीदाबाद में राज्य की सबसे ज्यादा जनसंख्या रहती है. 2.53 करोड़ लोगों की आबादी वाला ये राज्य हिमाचल, राजस्थान, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और दिल्ली से जुड़ता है. मुख्य रूप से यहां के लोग किसान हैं और बड़े पैमाने पर यहां खेती होती है. इसके अलावा दूध के उत्पादन में भी हरियाणा की गिनती प्रमुख राज्यों में की जाती है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi