S M L

6 साल बाद भारत लौटे हामिद की मां ने सुषमा स्वराज का किया धन्यवाद, कहा- मेरा भारत महान, मेरी मैडम महान

देश लौटने के बाद हामिद और उनकी मां ने विदेश मंत्री सुषमी स्वराज से मुलाकात की. इस दौरान वे बेहद भावुक नजर आए

Updated On: Dec 19, 2018 01:37 PM IST

FP Staff

0
6 साल बाद भारत लौटे हामिद की मां ने सुषमा स्वराज का किया धन्यवाद, कहा- मेरा भारत महान, मेरी मैडम महान

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक हामिद निहाल अंसारी मंगलवार को देश वापस लौटे. पाकिस्तानी जेल में पिछले 6 साल से बंद अंसारी अपनी सजा की अवधि पूरी होने बाद देश लौटे. देश लौटने के बाद उनके और उनके परिवार ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की. इस दौरान वे बेहद भावुक नजर आए.

अंसारी की मां ने अपने बेटे की घर वापसी पर सुषमा स्वराज को धन्यवाद दिया. उन्होंने सुषमा स्वराज को महान कहा. उन्होंने कहा मेरा भारत महान, मेरी मैडम महान.' उन्होंने कहा, सब मेरी मैडम ने किया है. इस भावुक पल में हामिद अंसारी और उनकी मां के साथ-साथ सुषमा स्वराज की आंखे भी नम हो गईं.

क्या था पूरा मामला?

सूत्रों के अनुसार पुाकिस्तान के कोहाट जेल में बंद 33 वर्षीय अंसारी सोमवार को रिहा होकर जेल से बाहर निकला. मुंबई का रहने वाला हामिद अंसारी एक लड़की से ऑनलाइन फ्रेंडशिप होने के बाद वर्ष 2012 में अवैध तरीके से पाकिस्तान पहुंचा था. अंसारी यहां अफगानिस्तान के रास्ते अवैध रूप से दाखिल हुआ था. इसके बाद उसे गिरफ्तार कर पाकिस्तानी सेना के हवाले कर दिया गया. उस पर फर्जी पाकिस्तानी आईडी कार्ड रखने का भी आरोप लगा और 15 दिसंबर, 2015 को सैन्य अदालत ने 3 साल की जेल की सजा सुनाई थी.

पेशावर हाईकोर्ट ने इस मामले में पाकिस्तान सरकार को आदेश दिया था कि भारतीय कैदी की सजा पूरे होते ही उसे रिहा कर भारत भेज दिया जाए. इसके लिए महीने भर में सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली जाए. बीते 30 नवंबर को एक भारतीय पत्रकार ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान से अंसारी की रिहाई को लेकर सवाल पूछा था. इस पर इमरान ने कहा कि वो पहली बार इस बारे में सुन रहे हैं. उन्होंने कहा था कि हमसे इस मामले में जो कुछ भी हो सकेगा, हम जरूर करेंगे.

वहीं विदेश मंत्रालय का कहना है कि 'यह विशेष रूप से उनके परिवार के सदस्यों के लिए बड़ी राहत का विषय है, कि उनकी कैद के 6 साल खत्म हो रहे हैं. हम चाहते हैं कि पाकिस्तान अन्य भारतीय नागरिकों और मछुआरों के दुखों को खत्म करने के लिए भी कार्रवाई करे, जिनकी नागरिकता साबित हो चिक है. और जो अपनी सजा पूरी कर चुके हैं और फिर भी पाकिस्तान की जेल में हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi