S M L

विवादों में रहने के बाद भी एचएएल का कारोबार रिकॉर्ड स्तर पर

कंपनी के सीएमडी आर. माधवन ने कहा, 'वित्त वर्ष 2017-18 में हमने 18,283.86 करोड़ रुपए का कारोबार किया'

Updated On: Sep 29, 2018 04:42 PM IST

Bhasha

0
विवादों में रहने के बाद भी एचएएल का कारोबार रिकॉर्ड स्तर पर

तमाम चुनौतियों के बावजूद रक्षा क्षेत्र की सरकारी कंपनी हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के राजस्व और मुनाफे में महत्वपूर्ण वृद्धि हुई है. कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी. कंपनी के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक (सीएमडी) आर. माधवन ने कहा, 'वित्त वर्ष 2017-18 में हमने 18,283.86 करोड़ रुपए का कारोबार किया. यह अब तक सर्वोच्च वार्षिक कारोबार है. वर्ष 2016-17 में 17,603.79 करोड़ रुपए का कारोबार हुआ था.'

एचएएल ने शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद पहली बार शुक्रवार को अपनी सालाना आम बैठक आयोजित की. यह कंपनी की 55वीं वार्षिक बैठक थी. माधवन ने कहा कि 2017-18 में एचएएल का कर पूर्व लाभ 3,322.84 करोड़ रुपए रहा. जो कि इससे पिछले वर्ष 3,582.58 करोड़ रुपए था. वहीं, 2017-18 में कंपनी का शुद्ध लाभ 2,070.41 करोड़ रुपए रहा.

माधवन ने कहा कि एचएएल ने आलोच्य वर्ष के दौरान 40 विमानों और हेलीकॉप्टरों का उत्पादन किया. इसमें फिक्सड विंग में सुखोई-30 एमकेआई, एलसीए तेजस और डॉर्नियर डीओ-228 और रोटरी विंग में एएलएच ध्रुव और चीतल हेलीकॉप्टर शामिल हैं.

इस दौरान कंपनी ने 105 नए इंजन तैयार किए हैं. इसी के साथ कंपनी ने 220 विमानों और हेलीकाप्टरों और उनके 550 इंजनों की मरम्मत की. कंपनी ने भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रमों के लिए 146 ढांचे भी तैयार किए हैं. दरअसल पिछले दिनों एचएएल राफेल सौदे पर चल रहे विवाद के चलते भी सुर्खियों में रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi