S M L

सिद्धू को पाकिस्तान दौरे पर जाने से पहले फिर से सोचने को कहा था: पंजाब सीएम

सिद्धू का ये दूसरा पाकिस्तान दौरा है और इसे लेकर वो एक बार फिर सभी के निशाने पर हैं

Updated On: Nov 28, 2018 08:32 AM IST

FP Staff

0
सिद्धू को पाकिस्तान दौरे पर जाने से पहले फिर से सोचने को कहा था: पंजाब सीएम

पाकिस्तान में 28 नवंबर यानी बुधवार को करतारपुर कॉरिडोर की आधारशिला रखी जाएगी. इस खास मौके पर शामिल होने के लिए पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू मंगलवार को पाकिस्तान पहुंचे हैं. सिद्धू का ये दूसरा पाकिस्तान दौरा है और इसे लेकर वो एक बार फिर सभी के निशाने पर हैं. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह भी सिद्धू के पाकिस्तान दौरे पर जाने के फैसले से खुश नजर नहीं आ रहे हैं. सिद्धू के पाकिस्तान जाने के फैसले की आलोचनाओं के बीच सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा है कि उन्होंने अपने सहयोगी से इस पर पुन:विचार करने को कहा है.

सीएम बोले- निजी यात्रा करने से नहीं कर सकते मना

साथ ही सिंह ने कहा कि उन्होंने अनुमति के लिए सिद्धू का अनुरोध इसलिए स्वीकार कर लिया, क्योंकि वह किसी को 'निजी यात्रा' करने से मना नहीं कर सकते हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि सिद्धू मध्यप्रदेश में चुनाव प्रचार कर रहे थे, उसी दौरान उनसे फैसले पर पुन:विचार करने का अनुरोध किया. उन्होंने कहा, 'सिद्धू ने मुझे बताया कि वह पहले ही जाने का वादा कर चुके हैं. जब मैंने उन्हें इस मुद्दे पर अपने रूख से अवगत कराया तो उन्होंने कहा कि यह व्यक्तिगत यात्रा है, लेकिन वह मुझसे बात करेंगे. लेकिन अभी तक मेरी उनसे कोई बातचीत नहीं हुई है.'

पाक आर्मी चीफ को गले लगाने पर क्या बोले सिद्धू

इससे पहले पाकिस्तान दौरे पर गए सिद्धू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिद्धू ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर दोनों देशों के बीच शांती, समृद्धि और व्यापार संबंधों को खोलने की अनंत संभावनाओं का रास्ता है. पाकिस्तान आर्मी चीफ से गले मिलने पर बात करते हुए सिद्धू ने कहा कि, 'वो झप्पी सिर्फ एक सेकेंड की थी. वो कोई राफेल डील नहीं थी.' उन्होंने कहा कि, 'जब दो पंजाबी मिलते हैं तो ऐसे ही गले मिलते हैं. पंजाब में यह नॉर्मल है.'

आपको बता दें कि सिद्धू पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में भी शामिल होने के लिए पाकिस्तान गए थे. जहां पाकिस्तान आर्मी चीफ के गले लगने को लेकर उनकी चौतरफा आलोचना हुई थी.

केंद्र सरकार ने 22 नवंबर को अगले साल होने वाले गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर करतारपुर कॉरिडोर निर्माण का फैसला किया था. भारत के इस फैसले के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भी उसी दिन यह घोषणा की थी कि प्रधानमंत्री इमरान खान 28 नवंबर को अपने क्षेत्र में इस कॉरिडोर के बनने की आधारशिला रखेंगे. भारत और पाकिस्तान को जोड़ने वाले इस कॉरिडोर का निर्माण एकीकृत विकास परियोजना के रूप में किया जाएगा.

कौन-कौन होगा शामिल?

पाकिस्तान ने सिद्धू के अलावा इसमें शामिल होने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को भी न्योता भेजा था. मगर दोनों ने विभिन्न कारणों से इसमें शरीक होने से असमर्थता जताई थी. सुषमा स्वराज की जगह इसमें केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर और हरदीप सिंह पुरी शामिल होंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi