live
S M L

गुजरात टेक्स्टबुक में ‘रोज़ा’ को बताया ‘संक्रामक रोग’

इस बार फिर चौथी कक्षा की हिंदी की पाठ्यपुस्तक में उर्दू शब्द ‘रोजा’ को एक ‘संक्रामक रोग बताया गया जिससे कै और दस्त होता है’

Updated On: Jul 12, 2017 10:48 AM IST

Bhasha

0
गुजरात टेक्स्टबुक में ‘रोज़ा’ को बताया ‘संक्रामक रोग’

गुजरात स्टेट स्कूल टेक्स्टबुक बोर्ड (जीएसएसटीबी) एक बार फिर से विवादों में घिर गया है. अभी कुछ दिन पहले ही गुजरात बोर्ड द्वारा प्रकाशित, नौवीं कक्षा की हिंदी भाषा की पाठ्यपुस्तक के एक अध्याय के एक अंश में ईसा मसीह के आगे ‘भगवान’ के बजाय ‘हैवान’ शब्द का उपयोग किया गया था, जिसे लेकर ईसाई समुदाय ने कड़ी आपत्ति जाहिर की थी.

इस बार फिर चौथी कक्षा की हिंदी की पाठ्यपुस्तक में उर्दू शब्द ‘रोजा’ को एक ‘संक्रामक रोग बताया गया जिससे कै और दस्त होता है.’ रमजान के पाक माह में रखे जाने वाले उपवास को ‘रोजा’ कहा जाता है. यह गंभीर त्रुटि मशहूर लेखक प्रेमचंद की कहानी ‘ईदगाह’ में प्रयोग किए शब्दों के अर्थ बताने में की गई है.

इसमें ‘रोजा’ का उल्लेख करते हुए लिखा गया है कि यह ‘एक घातक तथा संक्रामक रोग है जिसमें दस्त और कै आती है.’

 जीएसएसटीबी ने कहा मुद्रण संबंधी भूल 

पिछली बार की तरह इस बार भी जीएसएसटीबी के अध्यक्ष नितिन पेठानी ने इसे ‘मुद्रण संबंधी भूल’ कहा है. शिक्षा अधिकार (आरटीई) कार्यकर्ताओं द्वारा इसे सामने लाया गया, जो इसे हटाने की मांग कर रहे हैं क्योंकि यह समाज के एक तबके की भावनाओं को आहत करता है.

उन्होंने कहा कि वह राज्य के शिक्षा सचिव और जीएसएसटीबी के अध्यक्ष के समक्ष इसे वापस लेने की मांग करेंगे.

यह भी पढ़ें: गुजरात में हिंदी के टेक्स्टबुक ने लिखा ईसा मसीह के लिए 'भगवान की जगह ‘हैवान’!

कार्यकर्ता मुजाहिद नफीस ने कहा, ‘हमें लगता है कि यह गलती लोगों की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए जानबूझकर किया एक प्रयास है, विशेषकर अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों की. हमने पहले ईसा मसीह के लिए इस्तेमाल किए अपमानजनक शब्दों की जानकारी भी अधिकारियों को दी थी.’

इससे पहले नौंवी कक्षा की हिंदी की पाठ्यपुस्तक में ईसा मसीह के नाम से पहले ‘हैवान’ लिखा गया था. ईसाई समुदाय के विरोध के बाद बोर्ड ने एक सर्कुलर जारी कर इसे वापस लेने और सही तथ्य को बताने की बात कही थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi