S M L

गुजरात: उत्तर भारतीयों के पलायन पर रूपाणी ने कहा- कांग्रेस कार्यकर्ता हिंसा के लिए जिम्मेदार

विजय रूपाणी ने कहा कि ' अगर राहुल गांधी गुजरात में हो रही हिंसा के खिलाफ हैं तो उन्हें सबसे पहले अपने उन पार्टी सदस्यों के खिलाफ ऐक्शन लेना चाहिए जिन्होंने हिंसा भड़काई है'

Updated On: Oct 09, 2018 09:39 AM IST

FP Staff

0
गुजरात: उत्तर भारतीयों के पलायन पर रूपाणी ने कहा- कांग्रेस कार्यकर्ता हिंसा के लिए जिम्मेदार

गुजरात में यूपी, एमपी और बिहार के लोगों का पलायन का मुद्दा लगातार जोर पकड़ता जा रहा है. जानकारी के मुताबिक मॉब लिंचिंग के डर से अब तक करीब 20 हजार से ज्यादा लोग राज्य छोड़कर भाग चुके हैं. सरकार की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक इस मामले में अब तक 56 एफआईआर दर्ज की गई है और 431 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया.

दूसरी तरफ इस मामले पर सियासत भी शुरू हो गई है. राज्य में बढ़ती हिंसक घटनाओं की आलोचना करते हुए कांग्रेस ने बीजेपी सरकार के असफल होने की बात कही थी. इस पर सीएम विजय रूपाणी ने पलटवार करते हुए कांग्रेस को इन घटनाओं का जिम्मेदार ठहराया.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को ट्वीट करते हुए इन घटनाओं को गलत बताया. उन्होंने कहा, ' गरीबी से बड़ी कोई दहशत नहीं है. गुजरात में हो रहे हिंसा की जड़ वहां के बंद पड़े कारखाने और बेरोज़गारी है. व्यवस्था और अर्थव्यवस्था दोनो चरमरा रही है.  प्रवासी श्रमिकों को इसका निशाना बनाना पूर्णत गलत है. मैं पूरी तरह से इसके खिलाफ़ खड़ा रहूंगा.'

वहीं राहुल गांधी के इस ट्वीट का जवाब देते हुए विजय रूपाणी ने कहा कि ' अगर राहुल गांधी गुजरात में हो रही हिंसा के खिलाफ हैं तो उन्हें सबसे पहले अपने उन पार्टी सदस्यों के खिलाफ ऐक्शन लेना चाहिए जिन्होंने हिंसा भड़काई है.' उन्होंने कहा, ट्वीट करना इस मसले का हल नहीं है. इन मामलो पर ठोस कदम भी उठाना होगा. लेकिन क्या राहुल गांधी ऐसा करेंगे?

सीएम योगी-नीतीश ने की रूपाणी से बात

इससे पहले उत्तर प्रदेश और बिहार के मुख्यमंत्रियों ने अपने-अपने लोगों की सुरक्षा को लेकर गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी से फोन पर बात की थी. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को बताया कि, 'गुजरात के सीएम ने उनसे स्पष्ट कहा कि बीते 3 दिन से उत्तर भारतीय लोगों के साथ हिंसा की कोई वारदात नहीं हुई है. जो लोग गुजरात की तरक्की से जलते हैं वो ही ऐसी अफवाहें फैलाने के जिम्मेदार हैं. गुजरात सरकार ने इस संबंध में उचित कदम उठाए हैं.'

वहीं रविवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी विजय रूपाणी से बात कर उनसे राज्य में प्रवासी बिहारी जनता की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की थी. नीतीश ने कहा, 'जो भी अपराध में शामिल हैं उन्हें गिरफ्तार कर सजा मिलनी चाहिए लेकिन बाकी उत्तर भारतीयों के साथ मारपीट और बदसलूकी न हो.'

दूसरी तरफ सोमवार को सीएम विजय रूपाणी ने लोगों से हिंसा ना फैलाने की अपील करते हुए कहा कि पिछले 48 घंटों में ऐसी कोई भी अप्रिय घटना नहीं हुई है और पुलिस ने स्थिती पर काबू पा लिया है. गुजरात सरकार उत्तर भारत के लोगों से वापस लौटने की अपील कर रही है.

क्या था  पूरा मामला?

गुजरात के साबरकांठा जिले के हिम्मतनगर में 28 सितंबर को 14 महीने की बच्ची के साथ रेप की घटना सामने आई थी. पुलिस ने फौरन कार्रवाई करते हुए रेप के आरोपी बिहार के रहने वाले रविंद्र साहू नाम को गिरफ्तार कर लिया था. इस घटना के बाद स्थानीय लोगों में उत्तर भारतीयों के प्रति गुस्सा भड़क उठा था. उन्होंने विशेषकर बिहार और यूपी से वहां काम करने गए लोगों को अपना निशाना बनाना शुरू कर दिया. स्थानीय लोग उऩ्हें धमकी देने लगे जिसके बाद बिहार, यूपी और एमपी के लोग वहां से भागने को मजबूर हो गए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi