S M L

गुजरात: 2007 के अजमेर दरगाह ब्लास्ट में बम सप्लाई करने का आरोपी गिरफ्तार

2007 में अजमेर दरगाह बम विस्फोट में तीन लोग मारे गए थे और 17 घायल हो गए थे. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने उसकी गिरफ्तारी पर 2 लाख का इनाम घोषित किया था

Updated On: Nov 25, 2018 05:31 PM IST

FP Staff

0
गुजरात: 2007 के अजमेर दरगाह ब्लास्ट में बम सप्लाई करने का आरोपी गिरफ्तार

गुजरात आतंकवाद विरोधी दल (एटीएस) ने रविवार को 2007 में राजस्थान के अजमेर दरगाह में हुए विस्फोट मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. भगोड़े सुरेश नायर को एटीएस अधिकारियों ने भरुच से गिरफ्तार किया. एटीएस को एक टिप ऑफ मिली थी कि सुरेश शुक्लतीर्थ के लिए नर्मदा नदी के किनारे जा रहा है.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक नायर अजमेर दरगाह विस्फोट में बम सप्लाई करने का आरोपी था. 2007 में अजमेर दरगाह बम विस्फोट में तीन लोग मारे गए थे और 17 घायल हो गए थे. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने उसकी गिरफ्तारी पर 2 लाख का इनाम घोषित किया था. तीन आरोपियों में से नायर भी एक था. बाकी दो संदीप डांगे और रामचंद्र हैं.

जयपुर में एक विशेष एनआईए अदालत ने मार्च 2017 में मुख्य आरोपी कार्यकर्ता स्वामी असीमानंद और छह अन्य लोगों को बरी कर दिया था. उन्हें 'संदेह का लाभ' दिया गया था. बरी हुए लोगों में हर्षद सोलंकी, लोकेश शर्मा, मेहुल कुमार, मुकेश वसानी, भारत भाई और चंद्रशेखर शामिल हैं. तीन अन्य को उम्रकैद की सजा दी गई थी. देवेंद्र गुप्ता, भावेश पटेल और सुनील जोशी को आईपीसी, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम और गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के विभिन्न वर्गों के तहत दोषी पाया गया था.

हालांकि, अगस्त के आखिरी सप्ताह में, भरूच के पटेल और अजमेर के गुप्ता (42) को राजस्थान हाईकोर्ट ने जमानत दे दी थी. इनके वकीलों ने तर्क दिया था कि उनको अनुमान और परिस्थिति जन्य सबूतों के आधार पर दोषी पाया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi