S M L

शादी में शरीक होने दूल्हे के साथ निकले थे 80 बाराती लेकिन पहुंचे केवल 25, हैरान कर देगी वजह

त्रिवुगीनारायण गांव से मक्कू मठ के लिए फौजी रजनीश कुमाचली की बारात चली थी जिसमें 80 लोग थे

Updated On: Jan 28, 2019 05:16 PM IST

FP Staff

0
शादी में शरीक होने दूल्हे के साथ निकले थे 80 बाराती लेकिन पहुंचे केवल 25, हैरान कर देगी वजह

उत्तराखंड में भारी बर्फबारी हो रही है और बहुत ठंड पड़ रही है. इस खून जमा देने वाली ठंड की वजह से एक फौजी दूल्हे को 6 किलोमीटर पैदल चलकर उस जगह जाना पड़ा, जहां शादी होनी थी. न्यूज18 के मुताबिक शुक्रवार को रुद्रप्रयाग के मक्कू मठ में हुई इस शादी में केवल 25 बाराती ही शामिल हुए थे. शामिल हुए लोगों में केवल वही लोग थे जिनका शादी की रस्मों में होना जरूरी था.

दरअसल शुक्रवार को त्रिवुगीनारायण गांव से मक्कू मठ के लिए फौजी रजनीश कुमाचली की बारात चली थी जिसमें 80 लोग थे. लेकिन बर्फ इतना ज्यादा पड़ रही थी कि सारे रास्ते जाम हो गए और बारात में शामिल वाहन फंस गए.

अब कोई चारा नहीं बचा था इसलिए दूल्हे ने 25 लोगों के साथ पैदल ही आगे बढ़ने का फैसला किया. बारातियों ने आपस में यह फैसला किया कि जिन लोगों का शादी की रस्मों में होना जरूरी है केवल वही आगे बढ़ें.

दूल्हें के भाई आशीष गरोला ने बताया कि ऐसी अनोखी शादी हमने 2002 में ही देखी थी. अब मेरे भाई की शादी में ऐसा हुआ है. इस शादी को लोग सालों तक याद करेंगे क्योंकि बीती घटना और इस घटना में दूल्हा फौजी ही था.

आशीष ने यह भी बताया कि बीते 7 दिनों से उसके गांव में बिजली नहीं आई है. इस वजह से लोगों में काफी निराशा है. आशीष का कहना है कि गांव में बिजली न आने से लोगों की हालत बहुत खराब है और लोगों को अपना मोबाइल कार से चार्ज करना पड़ रहा है.

मिली जानकारी के मुताबिक रुद्रप्रयाग के डिस्ट्रिक मजिस्ट्रेट मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि परिवार का पैदल चलना एक समझदारी भरा निर्णय रहा क्योंकि कार की दुर्घटना हो सकती थी और कार फिसल सकती थी.

ये भी पढ़ें: हम महाराष्ट्र में Big Brother हैं और हमेशा रहेंगे: शिवसेना

ये भी पढ़ें: 1 फरवरी से DTH के नए नियम होंगे लागू, ऐसे तय करें अपना चैनल?

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi