S M L

अब कई जगहों से नहीं बना सकेंगे ड्राइविंग लाइसेंस, डेटाबेस तैयार कर रही सरकार

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा भारत में लाइसेंस प्राप्त करना काफी आसान है और ऐसे कई मामले हैं जहां लोगों ने विभिन्न राज्यों से कई लाइसेंस ले रखे हैं

Updated On: Sep 21, 2018 04:44 PM IST

FP Staff

0
अब कई जगहों से नहीं बना सकेंगे ड्राइविंग लाइसेंस, डेटाबेस तैयार कर रही सरकार

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने साफ कहा कि एक ही व्यक्ति को कई जगहों से ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने पर रोक लगाने के लिए अब सरकार एक बड़ा कदम उठाने जा रही है. दरअसल सरकार ड्राइविंग लाइसेंस का डेटाबेस तैयार कर रही है जिसके चलते बिना ट्रेनिंग ड्राइविंग लाइसेंस पाना मुश्किल होगा और साथ ही कई जगहों से लाइसेंस बनवाना भी कठिन कार्य हो जाएगा. मंत्री ने कहा कि भारत में कम से कम 22 लाख ड्राइवरों की कमी है और इस कमी को पूरा करने के लिए कुशल कार्यबल तैयार किया जा रहा है. उन्होंने यह भी कहा कि बिना चालक वाली कारों को अनुमति देने का कोई सवाल ही नहीं उठता.

भारत में ड्राइविंग लाइसेंस मिलना बहुत आसान 

सड़क परिवह एवं राजमानर्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, ‘एक ही व्यक्ति को कई लाइसेंस जारी करने पर रोक लगाने के लिए सरकार ड्राइविंग लाइसेंस का डेटाबेस तैयार कर रही है. भारत में लाइसेंस प्राप्त करना काफी आसान है और ऐसे कई मामले हैं जहां लोगों ने विभिन्न राज्यों से कई लाइसेंस ले रखे हैं.’ उन्होंने कहा कि बिना प्रशिक्षण के लाइसेंस जारी करने पर रोक लगाने के लिए सरकार कई प्रशिक्षण केंद्र स्थापित कर रही है, जहां चालकों को अच्छा प्रशिक्षण दिया जाएगा.

चालकरहित कारों से रोजगार के अवसर में होगी कमी

उन्होंने बताया कि बिना प्रशिक्षण के लाइसेंस लेने के कारण बड़े पैमाने पर दुर्घटनाएं हो रही हैं. इसके अलावा उन्होंने कहा कि देश में कम से कम 22 लाख चालक हैं और ऐसी परिस्थिति में देश में चालकरहित कारों को अनुमति देने का कोई सवाल नहीं है. ऐसा करने से युवाओं में रोजगार के अवसर भी घटेंगे. गडकरी ने देश में बढ़ती हुई सड़क दुर्घटनाओं को लेकर भी बातें कहीं.

हर साल 1.5 लाख लोगों की सड़क दुर्घटना में होती है मौत

उन्होंने कहा- देश में सड़क दुर्घटनाएं बढ़ी हैं. हर साल करीब 1.5 लाख लोगों की मौत सड़क दुर्घटनाओं में होती है. उन्होंने बताया कि दुर्घटनाओं पर रोक लगाने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं. इसमें सड़कों की बनावट में सुधार, चालकों को प्रशिक्षण, वाहनों के डिजाइन को सुरक्षित बनाना और रास्तों की समस्या वाले क्षेत्रों की पहचान शामिल हैं. गडकरी ने ये भी कहा कि राजमार्गों की लंबाई भी बढ़ाई जाएगी ताकि उनमें ज्यादा से ज्यादा वाहनों का आना जाना हो सके. साथ ही सड़कों की डिजाइन में भी सुधार किया जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi