S M L

रावण का पुतला बनाने के लिए दी गई जमीन की फीस पर दोबारा विचार करे सरकार: कोर्ट

शिल्पकारों ने कोर्ट को बताया था कि मौजूदा दर के हिसाब से प्रति वर्ग फुट के लिए उन्हें पांच रुपए देना होगा और इस तरह से हर महीने उन्हें 22,000 से 30,000 रुपए शुल्क देने होंगे और इतना ज्यादा वे वहन नहीं कर सकते

Updated On: Aug 05, 2018 06:10 PM IST

Bhasha

0
रावण का पुतला बनाने के लिए दी गई जमीन की फीस पर दोबारा विचार करे सरकार: कोर्ट

दिल्ली हाईकोर्ट ने आप सरकार और नगर निगमों से कहा है कि शिल्पकारों को रावण का पुतला बनाने के लिए मुहैया कराए गए स्थानों के इस्तेमाल पर लगाए गए शुल्कों पर वे दोबारा विचार करें.

कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल और न्यायमूर्ति सी हरि शंकर की एक पीठ ने दिल्ली सरकार और नगर निगमों से कहा कि इन स्थलों के इस्तेमाल के लिए वसूले जाने वाले शुल्क पर दोबारा विचार करके वे इस संबंध में रिपोर्ट पेश करें. पीठ ने इस मामले पर अगली सुनवाई के लिए सात अगस्त की तारीख तय की है.

शिल्पकारों ने कोर्ट को बताया था कि मौजूदा दर के हिसाब से प्रति वर्ग फुट के लिए उन्हें पांच रुपए देना होगा और इस तरह से हर महीने उन्हें 22,000 से 30,000 रुपए शुल्क देने होंगे और इतना ज्यादा वे वहन नहीं कर सकते.

शिल्पकारों ने इस राशि को घटाकर एक रुपये प्रति वर्ग फुट करने की मांग की है. उनका कहना है कि अगर वे मौजूदा नीति के तहत पंजीकरण के लिये आवेदन करते हैं तो प्रशासन को लगेगा कि उन्होंने इस ऊंचे शुल्क को स्वीकार कर लिया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi