S M L

शहीदों के बच्चों की शिक्षा का पूरा खर्च उठाएगी सरकार

रक्षा मंत्रालय ने अब नए आदेश में ऑफिसर रैंक, और अधिकारी रैंक से नीचे के शहीदों के बच्चों का पूरा शैक्षिक खर्च उठाने का फैसला किया है

Updated On: Mar 22, 2018 04:31 PM IST

FP Staff

0
शहीदों के बच्चों की शिक्षा का पूरा खर्च उठाएगी सरकार

रक्षा मंत्रालय ने बताया कि अब वह शहीद जवानों के बच्चों की शिक्षा का पूरा खर्च उठाएगा. वहीं इससे पहले बच्चों की शिक्षा पर खर्च क सीमा तय थी, जो कि 10,000 रुपए प्रतिमाह हुआ करती थी. इस सीमा को 'शैक्षणिक सुविधा' का नाम दिया गया था.

रक्षा मंत्रालय ने अब नए आदेश में ऑफिसर रैंक, और अधिकारी रैंक से नीचे के शहीदों के बच्चों का पूरा शैक्षिक खर्च उठाने का फैसला किया है. इस फैसले का लाभ विकलांग, लापता सैनिकों के साथ जंग में शहीद हुए सैनिकों के बच्चों को मिल सकेगा. इस सकीम का करीब 3,400 बच्चों को लाभ मिलेगा और करीब 5 करोड़ सालाना का अधिक खर्च पड़ेगा.

इस स्कीम का लाभ तीनों सेनाओं के जवानों के बच्चों को मिलेगा. 1971 की भारत-पाक जंग के बाद शुरुआती स्कीम सामने आई थी, इसमें ट्यूशन और अन्य फीस (हॉस्टल, किताब, यूनिफॉर्म) का पूरा खर्च मिलता था. पहले सरकार ने सहायता राशि की सीमा 10,000 रुपए प्रतिमाह रखी थी, जिसके बाद परिवारवालों ने इसका विरोध करते हुए कहा था कि बच्चों की शिक्षा में प्रतिमाह 10 हजार रुपए से ज्यादा खर्च होता है.

(तस्वीर प्रतीकात्मक है)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi