S M L

गोरखपुर के डॉ. कफील करेंगे केरल में निपाह से पीड़ितों का इलाज

उन्होंने इसके लिए केरल के सीएम से इजाजत मांगी थी. इसके बाद केरल के सीएम पिनराई विजयन ने भी फेसबुक के जरिए उन्हें काम करने के लिए केरल बुलाया है

FP Staff Updated On: May 22, 2018 06:08 PM IST

0
गोरखपुर के डॉ. कफील करेंगे केरल में निपाह से पीड़ितों का इलाज

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर बीआरडी मेडिकल कॉलेज में पिछले साल ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी से हुए बच्चों की मौत के बाद चर्चा में आए डॉ कफील खान ने केरल के कोझीकोड में निपाह वायरस से जूझ रहे लोगों के इलाज की इच्छा जताई है. डॉ कफील ने फेसबुक पर इस बारे में लिखा था कि वो कालीकट मेडिकल कॉलेज में काम करना चाहते हैं. उन्होंने इसके लिए केरल के सीएम से इजाजत मांगी थी. इसके बाद केरल के सीएम पिनराई विजयन ने भी फेसबुक के जरिए उन्हें काम करने के लिए केरल बुलाया है.

डॉ. कफील खान ने फेसबुक पर लिखा था कि 'सहरी और फज्र की नमाज के बाद के मैंने सोने की कोशिश की लेकिन मैं सो नहीं पाया. निपाह वायरस के इंफेक्शन के होने वाली मौतों और इसे लेकर सोशल मीडिया पर चलने वाली अफवाहों ने मुझे परेशान कर दिया है. मैं केरल के मुख्यमंत्री से अनुरोध करता हूं कि मुझे कालीकट मेडिकल कॉलेज में आकर मरीजों की सेवा का मौका दें ताकि मैं कई जानों को बचा पाऊं.' कफील अहमद खान ने निपाह वायरस से बीमार लोगों की देखभाल कर रही नर्स लिनी को भी श्रद्धांजलि दी और कहा कि 'सिस्टर लिनी एक प्रेरणा हैं और मैं एक भी एक अच्छी वजह के लिए अपने जीवन की कुर्बानी तक देने को तैयार हूं. अल्लाह मुझे मानवता की सेवा करने के लिए ताकत, ज्ञान और खूबी दें.'

केरल सीएम ने जताई खुशी

कफील की पोस्ट के करीब छह घंटे बाद केरल के सीएम पी विजयन ने कहा कि राज्य सरकार बहुत खुश होगी, अगर डॉ कफील यहां आकर काम करेंगे. केरल के सीएम ऑफिस के फेसबुक अकाउंट से कहा गया है कि डॉ कफील ने निपाह वायरस से प्रभावित क्षेत्र में काम करने की इजाजत मांगी है. इस क्षेत्र में काम करना आसान नहीं है लेकिन कफील समाज के लिए सेवाएं देना चाहते हैं तो केरल की सरकार उनका बहुत स्वागत करती है. इसके अलावा केरल के सीएम ने यह भी कहा है कि मेडिकल सेवा से जुड़े अगर और लोग भी निपाह वायरस से पीड़ित लोगों की मदद करना चाहते हैं तो उनका स्वागत है. वे उसके लिए केरल स्वास्थ्य सेवा के निदेशक या कालीकट मेडिकल कॉलेज के सुपरिडेंटेंट को अपने अनुरोध से अवगत करवा सकते हैं.

गोरखपुर की घटना के बाद कफील अहमद तब चर्चा में आए थे जब मीडिया में उन्हें बच्चों के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर पहुंचाते हुए दिखाया गया था. हालांकि बाद में इसी मामले उन्हें आरोपी भी बनाया गया और उन्हें सस्पेंड कर दिया गया था. कफील खान अभी हाल ही में 7 महीने तक जेल में रहने के बाद जमानत पर बाहर आए हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi