विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

गोरखपुर त्रासदी: योगी का दावा, लापरवाही करने वाले को सरकार नहीं बख्शेगी

बच्चों पर बात करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ भावुक हो गए. उन्होंने कहा 'यह सियासत नहीं संवेदना का समय है.'

FP Staff Updated On: Aug 13, 2017 04:45 PM IST

0
गोरखपुर त्रासदी: योगी का दावा, लापरवाही करने वाले को सरकार नहीं बख्शेगी

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को बीआरडी मेडिकल कॉलेज का दौरा किया. जिसके बाद उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही.

योगी ने कहा 'कमेटी की रिपोर्ट एक बार आने दीजिए. केवल गोरखपुर ही नहीं यूपी में किसी की लापरवाही से जनहानि होगी तो सरकार उसको बख्शेगी नहीं. चीफ सेक्रेटरी की अध्यक्षता में कमेटी बनाई गई है. सरकार पर भरोसा रखिए.'

उन्होंने कहा '9 अगस्त को जब मैं गोरखपुर आया तो मैंने उच्च स्तरीय बैठक भी की थी. जिसमें मैंने एक-एक से इंसेफेलाइटिस के लिए पूछा था कि इसके खिलाफ हम कैसे लड़ रहे हैं मुझे स्पष्ट करें? मैं 1996-97 से इस लड़ाई के खिलाफ लड़ रहा हूं.'

बच्चों की मौत पर बात करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ भावुक भी हो गए. आगे बोलते हुए उन्होंने कहा 'इस पीड़ा को मुझसे ज्यादा कोई नहीं समझ सकता. इस घटना की सच्चाई जानने के लिए हमें प्रयत्न करना चाहिए. प्रत्येक पत्रकार को फोटोग्राफर के साथ बीआरडी कॉलेज का दौरा करना चाहिए.

स्वाइन फ्लू एक नई बीमारी बनती जा रही है. डेंगू, चिकनगुनिया के लिए भी मैंने 9 अगस्त को हुई बैठक में चर्चा की थी.' योगी आदित्यनाथ ने कहा 'इस लड़ाई को शुरू से हम लोग लड़ते रहे हैं. इंसेफेलाइटिस के खिलाफ हमने वैक्सीनेशन अभियान चलाया था. मुख्यमंत्री बनने के बाद बीआरडी मेडिकल कॉलेज का यह मेरा चौथा दौरा है  मैं संसद में भी लगातार इस पर बात करता रहा हूं.'

सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे.पी नड्डा भी मौजूद थे. नड्डा ने गोरखपुर में मेडिकल रिसर्च सेंटर में खोलने की बात कही. उन्होंने कहा 'पिछले संसद के सत्र में हमने मेडिकल रिसर्च सेंटर को हरी झंडी दी है. जो 85 करोड़ की मदद से गोरखपुर में बनाया जाएगा. जिससे यहां काफी लाभ होगा. भारत सरकार से जो कुछ भी उपेक्षित होगा वो हमने पहले भी दिया और अब भी देंगे.'

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा 'शुरू से यूपी और गोरखपुर को मेडिकल सेवाएं देने के लिए हम अग्रसर रहे हैं. हमने एम्स जैसा अस्पताल देने की पहल की है. योगी जी संसद में सांसद के नाते इंसेफेलाइटिस का मुद्दा उठाते रहे हैं. इस बार के सत्र में वह नहीं थे तो इंसेफेलाइटिस का मुद्दा भी उठा.'

मेडिकल कालेज के इन्सफेलाइटिस वार्ड में मासूमों की मौत का सिलसिला नहीं थम रहा है. वार्ड में लगातार बच्चों की मौत हो रही है. यहां बीती रात केंद्रीय राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल के दौरे के कुछ मिनट पहले एक नवजात बच्चे की मौत हुई है. रविवार सुबह भी एक बच्चे के मौत की खबर है. बताया जा रहा है कि मरने वालों की संख्या अब 70 के पार चली गई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi