S M L

रेप पीड़िता ने पीएम और सीएम को खून से खत लिखकर मांगा इंसाफ

लड़की का कहना है कि उसे न्याय नहीं मिला तो वह आत्महत्या कर लेगी.

Bhasha Updated On: Jan 23, 2018 04:37 PM IST

0
रेप पीड़िता ने पीएम और सीएम को खून से खत लिखकर मांगा इंसाफ

उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले में बलात्कार और फेसबुक पर अश्लील पोस्ट डालने के आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने से नाराज एक छात्रा ने प्रधानमंत्री और यूपी के सीएम को खून से खत लिखकर मदद की गुहार लगाई है.

रायबरेली की रहने वाली इस छात्रा ने पिछले 20 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खून से लिखे पत्र में आरोप लगाया है कि आरोपियों की ऊंची पहुंच की वजह से पुलिस उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है. आरोपी पक्ष मुकदमा वापस लेने के लिए उसे धमकी दे रहा है.

लड़की का कहना है कि उसे न्याय नहीं मिला तो वह आत्महत्या कर लेगी.

क्या था मामला?

सीनियर एसपी शशि शेखर सिंह ने बताया कि बाराबंकी में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रही रायबरेली की एक युवती के पिता ने मार्च, 2017 में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि एक लड़का उनकी बेटी को परेशान करता है.

उन्होंने बताया, शिकायत में आरोप लगाया गया था कि आरोपी एक दिन जबरन उनकी बेटी को एक मकान में ले गया, और अपने एक मित्र की मौजूदगी में उसके साथ बलात्कार किया. तभी से वह छात्रा को ब्लैकमेल कर रहा है.

सिंह ने बताया कि लड़की के पिता की शिकायत पर पुलिस ने 24 मार्च 2017 को आरोपी युवकों दिव्य पाण्डेय और अंकित वर्मा के खिलाफ बलात्कार तथा अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज किया था.

दूसरी बेटी के नाम पर बनाई फेक आईडी

उन्होंने बताया कि उसके बाद नौ अक्तूबर 2017 को युवती के पिता ने शहर कोतवाली में तहरीर देकर आरोप लगाया था कि उनकी दूसरी बेटी के नाम पर फेसबुक आईडी बनाकर किसी ने अश्लील सामग्री पोस्ट की है. पुलिस ने इस संबंध में आईटी एक्ट के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था.

सिंह ने कहा कि इस मामले में पुलिस को अभी तक विशेषज्ञ टीम की रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई है.

अधिकारी ने कहा कि पुलिस को पीड़ित लड़की द्वारा खून से खत लिखे जाने के बारे में कोई जानकारी नहीं है.

पुलिस अधीक्षक शिवहरि मीणा ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi