S M L

महाराष्ट्रः पुलिस भर्ती के दौरान शुरू होगा लिंग निर्धारण परीक्षण

एक महिला कॉन्सटेबल ने सर्जरी कराने और उसके बाद पुलिस बल में बतौर पुरुष कांस्टेबल नौकरी करते रहने की इजाजत मांगी थी

Bhasha Updated On: Apr 05, 2018 08:54 PM IST

0
महाराष्ट्रः पुलिस भर्ती के दौरान शुरू होगा लिंग निर्धारण परीक्षण

महाराष्ट्र में एक 29 वर्षीय पुलिस कांस्टेबल द्वारा लिंग परिवर्तन सर्जरी कराने के लिए दिए गए अनुरोध को लेकर शुरू हुए विवाद के बाद महाराष्ट्र पुलिस ने अब अपनी भर्ती प्रक्रिया में लिंग निर्धारण परीक्षण को शामिल किया है.

खुद को अब ललित कहलाना पसंद करने वाली ललिता साल्वे ने पिछले महीने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात कर उनसे सर्जरी कराने और उसके बाद पुलिस बल में बतौर पुरुष कांस्टेबल नौकरी करते रहने की इजाजत मांगी थी.

आईजी राजकुमार वतकर ने मुंबई में को बताया, ‘अब तक पुलिस भर्ती प्रक्रिया में हम लिंग निर्धारण परीक्षण नहीं कराते थे. हालांकि इस मामले के बाद, भविष्य में किसी तरह की जटिलताओं से बचने के लिए हमनें इसे लागू करने की जरूरत महसूस की.’

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में अभी 8000 पुलिस कांस्टेबलों की भर्ती प्रक्रिया चल रही है और लिंग निर्धारण परीक्षण को इस प्रक्रिया में शामिल किया जाएगा.

एक लाख 80 हजार है महाराष्ट्र पुलिस बल की संख्या 

एक अन्य पुलिस अधिकारी ने कहा कि शारीरिक परीक्षा के अलावा पुलिस बल में लिंग परीक्षण को भी शामिल किया जा रहा है जिससे पुरुष अभ्यर्थियों के महिला श्रेणी में चयन से बचा जा सके.

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में करीब एक लाख 80 हजार की क्षमता वाली कांस्टेबुलरी के लिए यह मामला अपनी तरह का अनोखा है. साल्वे एक महिला के तौर पर बड़ी हुईं और महिला पुलिस कांस्टेबल के तौर पर उसकी भर्ती हुई थी.

साल्वे ने बंबई हाईकोर्ट में याचिका दायर कर डीजीपी को यह निर्देश देने की मांग की थी कि उसे सर्जरी कराने के लिए छुट्टी दी जाए.

साल्वे ने सर्जरी के लिए एक महीने की छुट्टी भी मांगी थी लेकिन बीड पुलिस अधिकारियों ने इसे खारिज कर दिया. जिसके बाद कांस्टेबल ने अदालत का रूख किया था. बाद में फडणवीस ने डीजीपी से साल्वे के मामले पर विचार करने को कहा था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi