S M L

पाक से लौटी गीता को एक और दंपति ने बताया अपनी बेटी

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक अक्तूबर को प्रसारित वीडियो संदेश में देशवासियों से भावुक अपील की थी कि वे गीता के माता-पिता की तलाश में सरकार की मदद करें

Bhasha Updated On: Dec 08, 2017 04:34 PM IST

0
पाक से लौटी गीता को एक और दंपति ने बताया अपनी बेटी

बहुचर्चित घटनाक्रम में पाकिस्तान से वर्ष 2015 में भारत लौटी मूक-बधिर युवती गीता को बिहार के एक दंपति ने अपनी लापता बेटी बताया है. इस दंपति को दो अन्य परिवारों के साथ गीता से 11 दिसंबर को मिलवाया जाएगा जो इस लड़की की वल्दियत यानी मां-बाप होने का दावा पहले ही कर चुके हैं.

मध्यप्रदेश सरकार के सामाजिक न्याय विभाग के संयुक्त संचालक बीसी जैन ने शुक्रवार को 'पीटीआई-भाषा' को बताया कि बिहार के सारण जिले के मिर्जापुर गांव निवासी मोहम्मद ईसा और उनकी पत्नी जुलेखा खातून को गीता से यहां 11 दिसंबर को मिलवाया जाएगा.

उन्होंने बताया कि गीता को महाराष्ट्र के अहमद नगर जिले के जयसिंह कराभरी इथापे और झारखंड के जामताड़ा जिले के सोखा किशकू के परिवारों से इसी तारीख को मिलवाने का कार्यक्रम पहले से तय है. इन दोनों परिवारों का भी दावा है कि यह लड़की कोई और नहीं, बल्कि उनकी खोयी बेटी है.

जैन ने बताया कि गीता की वल्दियत का दावा कर रहे तीनों परिवारों के डीएनए नमूने भी लिए जाएंगे. इन नमूनों को गीता के डीएनए नमूने से मिलान के लिए सीबीआई की नई दिल्ली स्थित केंद्रीय अपराध विज्ञान प्रयोगशाला (सीएफएसएल) भेजा जा सकता है.

अब तक 10 परिवारों का दावा हो चुका है खारिज

अब तक देश के अलग-अलग इलाकों के 10 से ज्यादा परिवार गीता को अपनी लापता बेटी बता चुके हैं. लेकिन सरकार की जांच में इनमें से किसी भी परिवार का दावा फिलहाल साबित नहीं हो सका है.

गीता गलती से सीमा लांघने के कारण दशक भर पहले पाकिस्तान पहुंच गई थी. भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के विशेष प्रयासों के कारण गीता 26 अक्तूबर 2015 को स्वदेश लौटी थी. इसके अगले ही दिन उसे इंदौर में मूक-बधिरों के लिए चलाई जा रही गैर सरकारी संस्था के आवासीय परिसर भेज दिया गया था. तब से वह इसी परिसर में रह रही है.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक अक्तूबर को प्रसारित वीडियो संदेश में देशवासियों से भावुक अपील की थी कि वे गीता के माता-पिता की तलाश में सरकार की मदद करें. उन्होंने यह घोषणा भी की थी कि इस मूक-बधिर युवती को उसके बिछुड़े माता-पिता से मिलवाने में सहयोग करने वाले व्यक्ति को एक लाख रुपए का इनाम दिया जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi