Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

गौरी लंकेश हत्या: ट्विटर पर फूटा लोगों का गुस्सा

गौरी लंकेश हिंदुत्व राजनीति और कट्टर दक्षिणपंथ के खिलाफ काफी मुखर थीं. उनकी हत्या के बाद ट्विटर पर लोगों ने शोक जताया है. इनमें कई नेता भी शामिल हैं.

FP Staff Updated On: Sep 06, 2017 10:02 AM IST

0
गौरी लंकेश हत्या: ट्विटर पर फूटा लोगों का गुस्सा

बेंगलुरु में वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद से पूरे देश में गुस्सा है. लोग उनकी हत्या की निंदा कर रहे हैं.

गौरी लंकेश हिंदुत्व राजनीति और कट्टर दक्षिणपंथ के खिलाफ काफी मुखर थीं. उनकी हत्या के बाद ट्विटर पर लोगों ने शोक जताया है. इनमें कई नेता भी शामिल हैं.

कैबिनेट मंत्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ ने गौरी लंकेश की हत्या की निंदा करते हुए लिखा है कि वो पत्रकारों के खिलाफ किसी भी तरह की हिंसा का विरोध करते हैं. वहीं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी वरिष्ठ कन्नड़ पत्रकार की हत्या की निंदा की और कहा कि सच को कभी दबाया नहीं जा सकता.

केंद्रीय खेल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) राठौड़ ने ट्वीट किया, ‘बेंगलुरू से गौरी लोकेश की जघन्य हत्या की खबर है. मैं पत्रकारों के खिलाफ हिंसा की निंदा करता हूं.’

राहुल ने ट्वीट किया, ‘सच को कभी दबाया नहीं जा सकता. गौरी लंकेश हमारे दिलों में बसती हैं. मेरी संवेदनांए और प्यार उनके परिवार के साथ. दोषियों को सजा मिलनी चाहिए.’

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल, केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी महिला पत्रकार की हत्या पर शोक जताया है.

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने ट्वीट किया, ‘गौरी एक तर्कशील पत्रकार थीं जिन्हें गोलियों से शांत करा दिया गया. उनकी हत्या उन लोगों को चुप कराने का प्रयास है जो विपरीत विचार रखते हैं. दुर्भाग्यपूर्ण है.’

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने अपने फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘उनकी हत्या की खबर ‘स्तब्ध’ कर देने वाली है.’

केरल विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्नीथाला और केरल यूनियन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट ने भी वरिष्ठ पत्रकार की हत्या पर शोक व्यक्त किया. वहीं दिल्ली में प्रेस क्लब ऑफ इंडिया और विमन्स प्रेस क्लब (आई डब्ल्यू पी सी) ने वरिष्ठ पत्रकार गौरी की हत्या की कड़े शब्दों में निंदा की है.

आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने कहा है कि ये सामान्य हत्या नहीं है. वो कट्टर दक्षिणपंथ की विरोधी थीं.

इन सबके इतर ट्विटर पर राइट और लेफ्ट की लड़ाई भी चल रही है. लोगों ने गौरी लंकेश के विचारों और उनके रुख पर भी सवाल उठाया है. कुछ लोग उनके समर्थक में हैं, तो कुछ उनके विरोध में. राज्य की कांग्रेस सरकार पर सवाल उठ रहे हैं.

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एस सिद्धारमैया ने गौरी लंकेश की मृत्यु पर शोक जताया है. उन्होंने कहा है कि उन्होंने एक अच्छा दोस्त खो दिया है.

उन्होंने कहा कि ये लोकतंत्र की हत्या है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi