S M L

गौरी लंकेश मर्डर केस: आरोपी ने मुख्य गवाह को की थी डराने-धमकाने की कोशिश

सरकारी वकील ने केटी नवीन कुमार की जमानत याचिका का विरोध करते हुए कहा कि उसने हिरासत में होने के बाद भी मुख्य गवाह गिरीश पर दबाव डालने की कोशिश की

Updated On: Jun 30, 2018 02:26 PM IST

FP Staff

0
गौरी लंकेश मर्डर केस: आरोपी ने मुख्य गवाह को की थी डराने-धमकाने की कोशिश

कन्नड़ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के मामले में पहले आरोपी केटी नवीन कुमार पर गवाह ने एक नया आरोप लगाया है. मामले के मुख्य गवाह गिरीश ने कहा कि नवीन ने उसे कथित रूप से डरा-धमका कर सबूत पेश करने से रोकने की कोशिश की थी.

केटी नवीन कुमार ने सेशन कोर्ट में जमानत की याचिका दायर की है, जहां सुनवाई के दौरान उसपर यह आरोप लगा.

सरकारी वकील टीएम नरेंद्र ने जमानत याचिका का विरोध करते हुए कहा कि नवीन कुमार ने हिरासत में होने के बाद भी मुख्य गवाह गिरीश पर दबाव डालने की कोशिश की. मामले की जांच कर रही एसआईटी ने बीते फरवरी में नवीन को गिरफ्तार किया था, वो 2 महीने से अधिक समय से न्यायिक हिरासत में है.

 आरोपी का चचेरा भाई लगता है मुख्य गवाह

नवीन कुमार ने मद्दूर में 'हिंदू युवा सेना' की स्थापना की थी. उसके संगठन का पहला सदस्य उसका चचेरा भाई गिरीश था जो कि अब पुलिस का गवाह है. एसआईटी के सूत्रों ने बताया कि गिरीश ने मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज अपने बयान में बताया कि वो पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या की साजिश के बारे में जानता था. बयान आईपीसी की धारा 164 के तहत दर्ज किया गया है, जो ट्रायल के दौरान सबूत के तौर पर मान्य होगा. वहीं नवीन कुमार की कानूनी टीम ने उसी मजिस्ट्रेट के सामने पत्र देकर कहा था कि गिरीश अपने बयान को वापस लेना चाहता है.

बता दें कि 5 सितंबर, 2017 को बाइक सवार 2 लोगों ने दफ्तर से लौट रही गौरी लंकेश की उनके घर के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी थी. पुलिस ने इस मामले में अब तक 6 लोगों को गिरफ्तार किया है, वहीं 3 साजिशकर्ताओं की उसे तलाश है.

बताया जा रहा है कि आरोपियों ने गौरी लंकेश को इसलिए मार दिया क्योंकि वो उन्हें 'एंटी-हिंदू' मानते थे.

हत्या की साजिश के बारे में जानने वाले 4 लोग गवाह बन गए

नवीन कुमार द्वारा रची गई हत्या की साजिश के बारे में जानने वाले 4 लोग पुलिस के गवाह बन गए हैं. इसमें से गिरीश और दो अन्य हिंदू युवा सेना के सदस्य थे, जबकि सुरेश ने आरोपियों की मदद के लिए उन्हें अपने घर पर रहने के साथ बाइक इस्तेमाल करने के लिए दी थी.

नवीन कुमार की जमानत याचिका पर आपत्ति जताते हुए प्रॉसीक्यूटर ने कहा कि वह मुख्य गवाह को धमकाकर उसपर दबाव डाल सकता है. प्रॉसीक्यूटर ने यह भी बताया कि हत्या में इ्स्तेमाल गोलियों के प्रकार और नवीन कुमार के घर से एसआईटी को मिली गोलियों के प्रकार में भी समानता मिली है.

इस सप्ताह के अंत तक बैलिस्टिक रिपोर्ट सेशन कोर्ट में जमा की जाएगी. वहीं नवीन कुमार के वकील ने उनका बचाव करते हुए कहा कि वह नार्को टेस्ट से गुजरने के लिए तैयार हैं.

(साभार:न्यूज 18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi