S M L

गौरी लंकेश हत्याकांड: हत्या के आरोपी को सिर में गोली मारने की मिली थी ट्रेनिंग

एसआईटी सूत्रों की मानें तो पूछताछ के दौरान वाघमारे ने कबूल किया है कि उसे कलबुर्गी की तरह सिर में गोली मारने की ट्रेनिंग दी गई ताकि साफ-साफ निशाना बनाया जा सके

FP Staff Updated On: Aug 02, 2018 09:36 AM IST

0
गौरी लंकेश हत्याकांड: हत्या के आरोपी को सिर में गोली मारने की मिली थी ट्रेनिंग

कन्नड़ पत्रकार गौरी लंकेश हत्या कांड की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने बताया है कि हत्यारोपी परशुराम वाघमारे को लंकेश के सिर में गोली मारने की ट्रेनिंग दी गई थी. यह ट्रेनिंग ठीक वैसी थी जैसे एमएम कलबुर्गी को माथे में गोली मारी गई थी.

इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर में कहा गया है कि वाघमारे के खुलासे से एक ऐसे व्यक्ति पर शक की सुई घुम रही है जिसने दोनों हत्याकांड के आरोपियों को सिर में गोली मारने की ट्रेनिंग दी.

गौरी लंकेश हत्याकांड के प्रारंभिक आरोप-पत्र में इस बात का जिक्र है कि लंकेश और कलबुर्गी की हत्या में एक ही तरह के 7.65 एमएम देसी कट्टे का इस्तेमाल किया गया.

कलबुर्गी को उनके घर के बाहर किसी अज्ञात शख्स ने बिल्कुल नजदीक से सिर में गोली मारी थी. गौरी लंकेश की हत्या भी कुछ इसी प्रकार की गई जब 5 सितंबर 2017 को दफ्तर से लौटते वक्त अपने घर का दरवाजा खोल रही थीं. उनपर चार गोलियां बरसाई गई थीं.

एसआईटी ने लंकेश की हत्या में वाघमारे को आरोपी बताया है जिसने हेलमेट लगाए फायरिंग की थी जबकि उसका एक सहयोगी गणेश मिस्किन कुछ दूरी पर बाइक पर वाघमारे का इंतजार कर रहा था.

एसआईटी की जांच में पता चला है कि वाघमारे ने हुबली निवासी मिस्किन के साथ पिस्तौल चलाने की ट्रेनिंग ली. एक अन्य आरोपी राजेश बंगेरा का भी नाम है जो इस ट्रेनिंग में शामिल है. बंगेरा सरकारी कर्मचारी है और उसके पास दो लाइसेंसी पिस्तौल है.

एसआईटी सूत्रों ने बताया कि पूछताछ के दौरान वाघमारे ने कबूल किया है कि उसे कलबुर्गी हत्या की तरह सिर में गोली मारने की ट्रेनिंग दी गई ताकि साफ-साफ निशाना बनाया जा सके.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi