S M L

गाजियाबाद में गोहत्या के मामलों में अब लगेगा गैंगस्टर एक्ट, मिलेगी ऐसी सजा

गाजियाबाद के एसएसपी उपेंद्र कुमार अग्रवाल ने बताया कि लोनी घटना से पहले मसूरी और उसके आसपास के इलाकों में भी मवेशइयों का शव मिल चुका है

Updated On: Dec 28, 2018 12:10 PM IST

FP Staff

0
गाजियाबाद में गोहत्या के मामलों में अब लगेगा गैंगस्टर एक्ट, मिलेगी ऐसी सजा

गो हत्या के बढ़ते मामलों को देखते हुए गाजियाबाद पुलिस प्रमुख ने इलाके के सभी एसएचओ को पिछले 5 साल हुई इस तरह की घटनाओं को ट्रैक करने के लिए कहा है और गैंगस्टर एक्ट के तहत मामला दर्ज करने को कहा है. बीते गुरुवार को यह आदेश जारी किया गया है. टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार इस आदेश के तीन दिन पहले ही लोनी इलाके के सकलपुरा गांव में शमशान घाट के पास 4 मवेशियों का शव मिला था.

गो हत्या मामलों में जो आरोपी होंगे उन पर इनाम की घोषणा होगी

गाजियाबाद के एसएसपी उपेंद्र कुमार अग्रवाल ने बताया कि लोनी घटना से पहले मसूरी और उसके आसपास के इलाकों में भी मवेशियों का शव मिल चुका है. उन्होंने कहा- हाल ही में इसी तरह के मामले को लेकर बुलंदशहर में लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति उत्पन्न हुई थी. पुलिस को बोला गया था कि इस तरह के मामलों को आराम से और सही तरीके से हैंडल करें. साथ ही सजग भी रहें. जिला पुलिस ने प्लान बनाया है कि गो हत्या मामलों में जो आरोपी होंगे उन पर इनाम की घोषणा होगी. साथ ही जो लोग फरार होंगे उन्हें भी गिरफ्तार किया जाएगा.

गैंगस्टर एक्ट के तहत जमानत मिलना भी मुश्किल होता है

गैंगस्टर एक्ट के तहत उन लोगों पर मामला दर्ज किया जाएगा जो एक से अधिक मामलों में आरोपी होंगे. गैंगस्टर एक्ट के तहत आने वाले मामलों में जमानत मिलना भी मुश्किल होता है और पुलिस को अनुमति होती है कि वह आरोपियों को ज्यादा दिन तक कस्टडी में रख सकें. गाजियाबाद पुलिस प्रमुख ने अपने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि जिले में इस तरह की घटनाओं वाले संवेदनशील गांव की पहचान की जाए और इसे लेकर सभी ग्राम प्रधान के साथ एक बैठक का आयोजन किया जाए.

एसएसपी ने अपने अधिकारियों के साथ इस मुद्दे पर एक बैठक की थी

बीते बुधवार को एसएसपी ने अपने अधिकारियों के साथ इस मुद्दे पर एक बैठक की थी. बैठक में एसएसपी ने अपने पुलिस अधिकारियों को कहा कि वह लोग एक खास योजना के तहत 27 दिसंबर से लेकर 31 दिसंबर तक जिले में इस तरह के लंबित पड़े मामलों की जांच शुरू करें. पुलिस का मानें तो बुलंदशहर हिंसा के बाद से ही इस तरह के मामलों को और अधिक सीरियस तौर पर लिया जा रहा है. बीते गुरुवार को ही सकलपुरा में तीन लोगों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. इन तीनों की पहचान इरफान, काब और आसिफ के तौर पर हुई है.

उनका मूल काम मवेशियों के पिक वैन से उन्हें चुराना था

पुलिस ने इन तीनों के पास से दौ चाकू और एक मीट चौपर बरामद किया है. लोनी के एसएचओ संजय वर्मा ने कहा आरोपियों ने पुलिस को बताया कि 7 से 8 साथियों की मदद से उन लोगों ने गायों को रविवार रात को बंथला नहर के पास काटा था. उनका मूल काम मवेशियों के पिक वैन से उन्हें चुराना और उन्हें काटकर कई जगहों पर पहुंचाना था. वह स्थीनय मीट की दुकानों पर इन्हें बेचते थे. उन्हें गोहत्या अधिनियम की रोकथाम एक्ट के तहत पकड़ा गया है. वर्मा ने कहा कि उनके पिछले क्रिमिनल रिकॉर्ड की जांच की जा रही है और उसके बाद ही उन पर गैंगस्टर एक्ट लगाया जा सकेगा.

इस तरह की घटना राजनीतिक षड़यंत्र का हिस्सा है 

उनके बाकी साथियों की भी तलाश की जा रही है. बता दें कि पिछले सोमवार को जब लोनी में गो हत्या के बार में खबर फैली तो कुछ सामाजिक संगठनों के सदस्यों ने सकलपुरा पहुंचकर नारेबाजी की. सिर्फ इतना ही नहीं कुछ सदस्यों ने तो मवेशियों को सड़क पर ले जाकर जाम लगाया. हालांकि बाद में पुलिस ने उन्हें हटा दिया. वहीं लोनी के बीजेपी विधायक नंद किशोर गुर्जर ने कहा कि इस तरह की घटना राजनीतिक षड़यंत्र का हिस्सा है ताकि जिले में सांप्रदायिक दंगों को भड़काया जा सके.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi