S M L

उम्मीदों पर फिरा पानी, घटने की बजाय 12वें दिन और बढ़े तेलों के दाम

तेल की कीमतों में उछाल के लिए कच्चे तेल की महंगाई एक कारण तो है ही, डॉलर के मुकाबले रुपए का कमजोर पड़ना भी एक वजह है

Updated On: May 25, 2018 11:29 AM IST

FP Staff

0
उम्मीदों पर फिरा पानी, घटने की बजाय 12वें दिन और बढ़े तेलों के दाम

शुक्रवार को लगातार 12वें दिन पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ा दिए गए. पेट्रोल में जहां 32 पैसे की बढ़ोतरी की गई तो डीजल के दाम 18 पैसे और बढ़ गए.

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसीएल) की संशोधित सूची में मेट्रो शहरों में शुक्रवार को पेट्रोल की कीमतें इस प्रकार रहीं-दिल्ली में 77.83 रुपए, मुंबई में 85.65 रुपए, कोलकाता में 80.47 रुपए और चेन्नई में 80.80 रुपए प्रति लीटर. डीजल के दाम कुछ इस प्रकार हैं-दिल्ली में 68.75 रुपए, मुंबई में 73.20 रुपए, चेन्नई में 72.58 रुपए और कोलकाता में 71.30 रुपए.

अंतरराष्ट्रीय बाजारों में कच्चे तेल की कीमतें बढ़ने का असर स्थानीय बाजारों पर दिख रहा है. एक दूसरी मुश्किल यह भी है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में डॉलर के मुकाबले रुपया लगातार कमजोर पड़ रहा है जिसका बुरा असर रुपए-डॉलर के एक्सचेंज रेट पर देखा जा रहा है.

हालांकि शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया 14 पैसे उछलकर 68.20 रुपए प्रति डॉलर पर पहुंच गया. रुपए में लगातार दूसरे दिन सुधार देखा गया. करेंसी डीलरों ने कहा कि बैंकों और निर्यातकों के अमेरिकी करेंसी डॉलर की बिकवाली करने और घरेलू शेयर बाजार की शुरुआती तेजी से रुपए को जोर मिला. गुरुवार के कारोबरी दिन में डॉलर के मुकाबले रुपया 8 पैसे चढ़कर 68.34 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ था.

NEW DELHI: RUPEE VS DOLLAR. PTI GRAPHICS      (PTI5_24_2018_000122B)

NEW DELHI: RUPEE VS DOLLAR. PTI GRAPHICS (PTI5_24_2018_000122B)

गुरुवार को ऐसी अटकलें लगाई जाती रहीं कि सरकार ओएनजीसी और ऑयल इंडिया जैसी तेल कंपनियों पर अप्रत्याशित लाभ पर कर (विंडफॉल-गेन) लगा कर तेल की कीमतें नीचे ला सकती है. इसके अलावा राज्यों को सेस और वैट घटाने को भी कहा जा सकता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi