S M L

मछली में फॉर्मलीन? गोवा के CM ने कहा, खबरें फर्जी हैं, इस पर ध्यान न दें

पर्रिकर ने कहा, मैं शुरुआत में चुप था (मछली में फॉर्मलीन मुद्दे पर) लेकिन आखिरकार मुझे यह कहना पड़ा कि चिंता न करें और मैं इसकी निगरानी कर रहा हूं

Updated On: Jul 15, 2018 05:30 PM IST

Bhasha

0
मछली में फॉर्मलीन? गोवा के CM ने कहा, खबरें फर्जी हैं, इस पर ध्यान न दें

अलग-अलग राज्यों से गोवा में आने वाली मछलियों में फॉर्मलीन की रिपोर्टों के बीच मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने रविवार को कहा कि लोगों को यह एहसास होना चाहिए कि फर्जी खबरें या अफवाहें हानिकारक हो सकती हैं.

पर्रिकर ने ट्वीट किए कि वह मछली में फॉर्मलीन मुद्दे की खुद निगरानी कर रहे हैं. खाद्य और औषधि प्रशासन (एफडीए) के मौके पर टेस्ट के बाद फॉर्मलीन की मौजूदगी बताई गई थी. फॉर्मलीन का इस्तेमाल मुर्दाघरों में शवों को गलने से रोकने के लिए किया जाता है.

हालांकि बाद में एफडीए ने कहा कि मछली के नमूने में फॉर्मलीन अपने उपयुक्त स्तर पर पाया गया था और इसमें उसकी अतिरिक्त मात्रा नहीं थी. गोवा के आईटी दिवस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने रविवार को कहा कि उन्होंने शनिवार को एक बयान जारी किया था जिसमें उन्होंने फॉर्मलीन के बारे में अफवाह फैलाने पर रोक लगाने के लिए कहा था.

पर्रिकर ने कहा, ‘लोगों को यह समझना चाहिए कि फर्जी खबरें अधिक हानिकारण हैं या एक अफवाह अधिक हानिकारक हो सकती है. मैं शुरुआत में चुप था (असुरक्षित मछली के मुद्दे पर) लेकिन आखिरकार मुझे यह कहना पड़ा कि चिंता न करें और मैं इसकी निगरानी कर रहा हूं. इसकी (बयान जारी करने की) जरूरत इसलिए पड़ी क्योंकि लोगों ने मछली खाना बंद कर दिया था. गोवा के लोग मछली के बिना कैसे रह सकते है?’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi