S M L

बीजेपी के लिए महापुरुषों की कोई जाति या पार्टी नहीं होतीः केशव प्रसाद मौर्य

केशव प्रसाद मौर्य के अनुसार छप्पन इंच का सीना ले करके अगर इस्लामाबाद की छाती में भी तिरंगा फहराने की जरूरत पड़ती है तो वहां भी प्रधानमंत्री पीछे नहीं हटने वाले

Updated On: Sep 06, 2018 10:07 AM IST

FP Staff

0
बीजेपी के लिए महापुरुषों की कोई जाति या पार्टी नहीं होतीः केशव प्रसाद मौर्य
Loading...

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के अनुसार बीजेपी किसी के खिलाफ नहीं है वह सबके साथ खड़ी है. सब उनके अपने हैं. डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि बीजेपी के लिए महापुरुष की कोई जाति नहीं होती, कोई पार्टी नहीं होती. महापुरुष सिर्फ महापुरुष होता है. इसलिए अबंडेकर, राम मनोहर लोहिया, सरदार पटेल, मान्यवर काशीराम के नाम से भी और चौधरी चरण सिंह, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, चंद्र शेखर आजाद, एपीजे अब्दुल कलाम के नाम से भी सड़कें बनाई गई हैं. उन्होंने कहा कि उस सूची में और भी नाम जोड़े जा सकते हैं.  इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक लोधी समुदाय की सामाजिक प्रतिनिधि बैठक में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने ये बातें कहीं. इस बैठक का आयोजन बीजेपी के ओबीसी मोर्चा ने किया था जिसमें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्य अतिथि के रूप में शामिल थे.

यूपी में सड़कों का नाम महापुरुषों के नाम पर रखा जाएगा

बता दें कि हाल ही में बीजेपी इस तरह की कई बैठकों का आयोजन कर रही है ताकि कई समुदायों को आकर्षित किया जा सके. सूत्रों की मानें तो 2019 के चुनाव को लेकर ही इस तरह की योजना बनाई गई है. पिछले महीने इसी तरह की एक बैठक में मौर्य ने घोषणा की थी कि यूपी के प्रत्येक जिले में कम से कम एक रास्ते का नाम महापुरुषों पर रखा जाएगा. इससे पहले केशव प्रसाद मौर्य ने कहा था कि 2019 में मोदी जी की शपथ होने दीजिए इस देश से मुस्लिम तुष्टिकरण की राजनीति खत्म हो जाएगी. दलित विरोधी और पिछड़ा विरोधी राजनीति खत्म हो जाएगी. 2019 के चुनाव को लोगों के लिए अहम बताते हुए मौर्य ने कहा कि छप्पन इंच का सीना ले करके अगर इस्लामाबाद की छाती में भी तिरंगा फहराने की जरूरत पड़ती है तो वहां भी प्रधानमंत्री पीछे नहीं हटने वाले.

मुसलमानों के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा था कि मुसलमानों में भी पिछड़े वर्ग के मुसलमानों की भी संख्या है. उनको भी जोड़ेंगे. उनका भी उत्पीड़न हुआ है. उनके साथ भी भेदभाव हुआ है. आइए बीजेपी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलिए. वहीं योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जब महानता थोपी जाती है तो व्यक्ति राहुल गांधी जैसा पैदा होता है और जब अपने पुरुषार्थ से महानता प्राप्त करता है तो मोदी जी जैसा सम्मान पाता है. भारत की एकता और अखंडता को चोट पहुंचाने के लिए दिखाई देने वाले नक्सलवादी संगठन को खुल के समर्थन कर रहे हैं. उन्होंने लोगों से वादा किया कि ईटा के मेडिकल कॉलेज का नाम अवंति बाई के नाम पर रखा जाएगा.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi