S M L

8 साल से यह नाइजीरियाई शख्स कर रहा था ड्रग्स तस्करी, दिल्ली से हुआ गिरफ्तार

अधिकारियों ने उस शख्स पर और उसके आसपास के इलाके पर निगरानी रखी थी जिसके बाद उसके घर पर छापा मारा गया

Updated On: Jan 28, 2019 10:11 PM IST

FP Staff

0
8 साल से यह नाइजीरियाई शख्स कर रहा था ड्रग्स तस्करी, दिल्ली से हुआ गिरफ्तार

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने 25 किलोग्राम इफेड्रिन ड्रग्स के साथ बीते शुक्रवार को एक नाइजीरियाई शख्स को गिरफ्तार किया है. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार अधिकारियों ने बताया कि उन्हें इफेड्रिन ड्रग की तस्करी में उस नाइजीरियाई शख्स के जुड़े होने के बारे में खास जानकारी मिली थी. बता दें कि इस जानकारी के बाद ही अधिकारियों ने उस शख्स पर और उसके आसपास के इलाके पर निगरानी रखी थी जिसके बाद उसके घर पर छापा मारा गया.

इस दवा को चेस बोर्ड के थ्रेड रोल्स में छुपाया गया था

छापेमारी के दौरान, 25.2 किलोग्राम इफेड्रिन, जो कि नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक सबस्टेंस (एनडीपीएस) अधिनियम के तहत एक नियंत्रण पदार्थ है, को बरामद किया गया था. पुलिस ने बताया कि इस दवा को शतरंज (चेस बोर्ड) के थ्रेड रोल्स में छुपाया गया था. गिरफ्तार आरोपी की पहचान प्रिंस के रूप में की गई है. नशीली दवाओं के तस्करी के एक और मामले में उसके जुड़े रहने की वजह से वह एजेंसी के रडार में था.

2010 में भारत आया था और वैध वीजा के बिना ओवरस्टेइंग कर रहा था

इस साल की शुरुआत में भी उसे एक बार गिरफ्तार किया गया था. माधो सिंह, जोनल डायरेक्टर, दिल्ली जोनल यूनिट, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने बताया कि प्रारंभिक जांच से पता चला कि वह साल 2010 में भारत आया था और वैध वीजा के बिना दिल्ली में ओवरस्टेइंग कर रहा था. उसने यह भी खुलासा किया कि वह इस नशीली दवा को दिल्ली में अपने सहयोगियों से खरीदता था.

प्रिंस के अन्य सहयोगियों की तलाश जारी

इसके बाद इन दवाइयों को अफ्रीकी वाहकों की मदद से नाइजीरिया और अन्य अफ्रीकी देशों को भेजा जाता था. इनसे एम्पेटामाइन प्रकार के पदार्थ (एटीएस) बनाए जाते हैं. अधिकारियों ने कहा कि वह प्रिंस के अन्य सहयोगियों की तलाश में हैं. संबंधित विदेशी अधिकारियों को भी सूचित किया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi