S M L

केरल में बाढ़: मृतकों के परिजनों को 4 लाख, घर बनाने के लिए 10 लाख मुआवजे का ऐलान

सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य के कुल 14 जिलों में से सात उत्तरी जिलों में आर्मी की पांच टुकड़ियां तैनात की गई हैं

FP Staff Updated On: Aug 11, 2018 01:30 PM IST

0
केरल में बाढ़: मृतकों के परिजनों को 4 लाख, घर बनाने के लिए 10 लाख मुआवजे का ऐलान

लगातार और भारी बारिश की वजह से केरल के आधे से ज्यादा हिस्से भीषण बाढ़ की चपेट में हैं. बांध, तालाब और नदियां सब लबालब भर गए हैं. बाढ़ की वजह से कई जगहों पर हाइवे टूट गए हैं. साथ ही कई घर पानी में बह गए हैं.

पिछले कई दिन से हो रही लगातार बारिश से अब तक कम से कम 29 लोगों की मौत हो गई है. इसके अलावा करीब 54 हजार लोग बेघर हो गए हैं.

मुख्यमंत्री पिनारई विजयन ने शनिवार सुबह वायनाड का हवाई दौरा कर बाढ़ का जायजा लिया. बाढ़ के खतरे को देखते हुए प्रदेश में युद्ध स्तर पर राहत-बचाव का काम चल रहा है. मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को 4 लाख रुपए और जिनके घर-बार बह गए हैं, उन्हें 10 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को राज्य के मुख्यमंत्री से इस बारे में बात कर उन्हें हर संभव सहायता का भरोसा दिया. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह रविवार को केरल दौरे पर आ रहे हैं. वो यहां राहत कार्यों का जायजा लेंगे.

सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य के कुल 14 जिलों में से सात उत्तरी जिलों में आर्मी की पांच टुकड़ियां तैनात की गई हैं ताकि लोगों को सुरक्षित जगहों पर ले जाने और अस्थायी पुल बनाने में मदद मिले. पेरियार नदी में जलस्तर बढ़ने के बाद नेवी की दक्षिणी कमान को अलर्ट पर रखा गया है. आशंका है कि कोच्चि स्थित वेलिंगडन द्वीप के कुछ हिस्से पूरी तरह डूब सकते हैं.

इडुक्की डैम में जलस्तर कुल क्षमता से केवल 2 फुट नीचे

इडुक्की डैम में शनिवार सुबह जलस्तर (वॉटर लेवल) 2401 फुट को पार गया. इस जलाशय की कुल क्षमता (2403 फुट) से यह मात्र 2 फुट नीचे रह गया है. शुक्रवार को इसमें भरे पानी को निकालने के लिए डैम के पांचों गेट खोल दिए गए थे. बीते 26 साल में ऐसा पहली बार हुआ था जब डैम के गेट खोलने पड़े थे.

अधिकारियों ने बताया कि राज्य की लगभग सभी 40 नदियां उफान पर हैं. बीते आठ अगस्त से ही हो रही भारी मॉनसूनी बारिश के कारण उत्तरी और मध्य केरल सबसे ज्यादा प्रभावित है. बारिश के कारण कुल 29 लोगों की मौत हुई है जिनमें तीन की मौत शुक्रवार को हुई. इनमें से 25 की मौत लैंडस्लाइड में हुई और चार की मौत डूबने से हुई.

केरल के अधिकारियों ने बताया कि राज्य के 439 राहत शिविरों में कुल 53,501 लोगों को रखा गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi