S M L

बाढ़ की तबाही के बाद केरल सरकार अब केपीएमजी से पुनर्निमाण में सहायता लेगी

राज्य में पुनर्निर्माण से संबंधी परियोजनाओं के लिए केपीएमजी मुफ्त सेवा प्रदान करेगी. वहीं पांबा में पुनर्निर्माण कार्य पर नजर रखने के लिए मुख्य सचिव टॉम जोस की अध्यक्षता वाली उच्चस्तरीय समिति बनाई जाएगी

Updated On: Aug 31, 2018 03:48 PM IST

Bhasha

0
बाढ़ की तबाही के बाद केरल सरकार अब केपीएमजी से पुनर्निमाण में सहायता लेगी
Loading...

केरल सरकार ने बाढ़ की तबाही के बाद राज्य के पुनर्निर्माण के लिए केपीएमजी की सेवाएं लेने का फैसला किया है. केपीएमजी परियोजना सलाहकार साझेदार के तौर पर काम करेंगे. केपीएमजी दुनिया की सबसे बड़ी पेशेवर सेवा प्रदाता कंपनियों में से एक है. वहीं टाटा प्रोजेक्ट लिमिटेड को सबरीमाला के प्रसिद्ध अयप्पा मंदिर के तबाह हो गयी सड़कों, भवनों और पुलों के पुनर्निर्माण का काम सौंपा गया है.

मुख्यमंत्री पी. विजयन ने मंत्रिमंडल के फैसलों की घोषणा करते हुए कहा कि राज्य में पुनर्निर्माण से संबंधी परियोजनाओं के लिए केपीएमजी मुफ्त सेवा प्रदान करेगी. वहीं पांबा में पुनर्निर्माण कार्य पर नजर रखने के लिए मुख्य सचिव टॉम जोस की अध्यक्षता वाली उच्चस्तरीय समिति बनाई जाएगी. ये समिति सबरीमाला में 17 नवंबर से शुरू होने वाले सालाना मंडला-मक्कराविल्लकू महोत्सव को देखते हुए समय पर निर्माण कार्य सुनिश्चित करने के लिए नजर भी रखेगी.

विजयन ने माना कि बाढ़ प्रभावित राज्य के पुनर्निर्माण के लिए धन जुटाना चुनौती भरा काम है. उन्होंने कहा कि विदेशों से भी सहयोग जुटाने का फैसला किया गया है. खासकर उन देशों से जहां बड़ी संख्या में केरल के लोग रहते हैं. यूएई, ओमान, बहरीन, सऊदी अरब, कतर, कुवैत, सिंगापुर, मलेशिया, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, ब्रिटेन, जर्मनी, अमेरिका और कनाडा जैसे देशों से धनराशि एकत्रित करने के लिए एक मंत्री और पर्याप्त संख्या में अधिकारियों को लगाया जाएगा.

विजयन ने बताया कि मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में अभी तक 1,026 करोड़ रुपये जमा हो चुके हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ में घरेलू जरूरी सामान गंवा चुके परिवारों को एक-एक लाख रुपये का लोन दिया जाएगा.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi