S M L

फ्लिपकार्ट खरीदेगा ई-बे इंडिया: टेनसेंट, माइक्रोसॉफ्ट और ई-बे से मिलेगी फंडिंग

माइक्रोसॉफ्ट, ई-बे और टेनसेंट ने मिलकर 1.4 बिलियन डॉलर की फंडिंग की

FP Staff Updated On: Apr 11, 2017 11:00 AM IST

0
फ्लिपकार्ट खरीदेगा ई-बे इंडिया: टेनसेंट, माइक्रोसॉफ्ट और ई-बे से मिलेगी फंडिंग

फ्लिपकार्ट को बिजनेस मजबूत करने में आ रही आर्थिक दिक्कतों से निजात मिलेगी. दरअसल, माइक्रोसॉफ्ट, ई-बे और टेनसेंट ने मिलकर 1.4 बिलियन डॉलर (करीब 9000 करोड़ रुपए) की फंडिंग की है. यह कंपनी के इतिहास में 2007 से अब तक मिली सबसे बड़ी फंडिंग है.

सबसे ज्यादा फंडिंग चीन की टेनसेंट कंपनी ने की है. टेनसेंट ने अकेले 700 मिलियन डॉलर का इन्वेस्टमेंट किया है. जबकि ई-बे ने 500 मिलियन डॉलर और माइक्रोसॉफ्ट ने 200 मिलियन डॉलर निवेश किया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक इस डील में फ्लिपकार्ट, ई-बे इंडिया का बिजनेस भी खरीदेगा.

कितनी है फ्लिपकार्ट की वैल्यूएशन?

इस फंडिंग की मदद से फ्लिपकार्ट की वैल्युएशन अब 11.60 बिलियन डॉलर पर पहुंच गई है. कंपनी के मुताबिक ये भारत में इंटरनेट सेक्टर के लिए अब तक का सबसे बड़ा निवेश है और इससे फ्लिपकार्ट ई-कॉमर्स के अगले दौर में बड़ी छलांग लगा पाएगी.

फ्लिपकार्ट को मिली फंडिंग का फायदा

फ्लिपकार्ट को हाल के दिनों में उसकी प्रतिद्वंद्वी अमेजन से कड़ी टक्कर मिल रही थी. ताजा फंडिंग से आने वाले दिनों में कंपनी और निवेशकों का भरोसा बढ़ेगा.

क्या है भारत में ई-बे इंडिया की वैल्यू?

डील के मुताबिक फ्लिपकार्ट, भारत में ई-बे के बिजनेस को खरीदेगा. भारत में ई-बे इंडिया की वैल्यू 200 मिलियन डॉलर है. इसके अलावा माइक्रोसॉफ्ट, स्ट्रैटजिक पार्टनर के तौर पर फ्लिपकार्ट के साथ जुड़ गया है.

फ्लिपकार्ट के संस्थापक सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने डील को लेकर बयान जारी किया है. उन्होंने कहा है, 'यह फ्लिपकार्ट के लिए महत्वपूर्ण समझौता है, जो खुशी की बात है. ये कंपनी की नीतियों और कामकाज पर भरोसे का सबूत भी है.

(साभार न्यूज 18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi