S M L

भीषण बाढ़ से पूर्वोत्तर राज्यों में हाहाकार, अब तक 17 की मौत

केरल में भी मॉनसून की बारिश से जुड़ी घटनाओं में मरने वालों की संख्या बढ़कर 53 हो गई है. बाढ़ से यहां सामान्य जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है

Bhasha Updated On: Jun 17, 2018 10:56 AM IST

0
भीषण बाढ़ से पूर्वोत्तर राज्यों में हाहाकार, अब तक 17 की मौत

असम में बाढ़ की स्थिति खराब हो गई है और चार लोगों की मौत के साथ ही पूर्वोत्तर में बाढ़ में मरने वालों की संख्या 17 हो गई है. पिछले 24 घंटे में त्रिपुरा और मिजोरम में थोड़ा सुधार हुआ है. मणिपुर में बाढ़ में एक और व्यक्ति की जान चली गई.

केरल में इस मॉनसून के मौसम में बारिश से जुड़ी घटनाओं में मरने वालों की संख्या बढ़कर 53 हो गई है. आधिकारिक सूत्रों के अनुसार दो दिन पहले कोझीकोड जिले में हुए भूस्खलन के चार पीड़ितों के शव शनिवार को बरामद किए गए. इन चार लोगों में दो बच्चे हैं. भूस्खलन की घटना में मृतकों की संख्या बढ़कर 12 हो गई है.

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के मुताबिक पिछले 24 घंटे में बाढ़ और भूस्खलन की वजह से चार लोगों की मौत हो गई. एएसडीएमए ने बताया कि असम के होजाई, कर्बी आंगलांग पूर्व, कर्बी आंगलांग पश्चिम, गोलाघाट, करीमगंज, हैलाकांडी और कछार जिले में बाढ़ से 4.25 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं.

सबसे ज्यादा करीमगंज प्रभावित हुआ है. यहां 1.95 लाख से ज्यादा लोगों को बाढ़ की त्रासदी का सामना करना पड़ा है. हैलाकांडी में तकरीबन 1.89 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. एएसडीएमए ने बताया कि 716 गांव बाढ़ की चपेट में हैं और 3,292 हेक्टेयर फसल बर्बाद हो गई है.

मणिपुर के इंफाल पश्चिम जिले में बाढ़ की वजह से एक व्यक्ति की मौत के बाद मृतकों की कुल संख्या बढ़ कर सात हो गई है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इंफाल में शनिवार सुबह बारिश में कमी आई लेकिन थोउबल, इंफाल वेस्ट और बिष्णुपुर में स्थिति में अब भी सुधार नहीं हुआ है.

फोटो पीटीआई से

फोटो पीटीआई से

राहत और आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से जारी एक रिपोर्ट में बताया गया है कि इंफाल वेस्ट जिले में शनिवार को एक उफनती नदी में डूबने से एक मछुआरे की मौत हो गई. रिपोर्ट में बताया गया है कि राज्य में बाढ़ से टूटे मकानों की संख्या बढ़कर 22,624 हो गई है. बाढ़ से 1.8 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं. त्रिपुरा में बाढ़ से बने हालात में कुछ सुधार हुआ है जबकि राज्यभर के 189 राहत शिविरों में अब भी 40 हजार से ज्यादा लोग फंसे हुए हैं.

मिजोरम में तलवंग और लांगकी नदी में जलस्तर घटने से स्थिति थोड़ी ठीक हुई है.

दिल्ली में आंधी के साथ बारिश की संभावना

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में रविवार की सुबह गर्म रही हालांकि मौसम विभाग ने शाम तक आंधी आने और हल्की बारिश का पूर्वानुमान जाहिर किया है. मौसम विभाग के अधिकारी ने बताया कि न्यूनतम तापमान 28.2 डिग्री सेलिसयस दर्ज किया गया जबकि ऊमस रविवार सुबह 66 फीसदी रहा.

उन्होंने बताया कि शाम में हल्की बारिश होने और तेज हवाएं चलने की संभावना है. यहां का अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रह सकता है. शनिवार का अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 40 डिग्री सेल्सियस और 32.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर 'खतरनाक'

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर कुछ कम हुआ है लेकिन अब भी वह ‘ खतरनाक ’ स्तर पर बना हुआ है. अधिकारियों ने उम्मीद जताई कि प्रदूषण कम होने के कारण दिन में हवा की क्वालिटी में सुधार होगा.

New Delhi: Delhi Congress workers wear masks during a protest against Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal over the recent air-pollution, at Rajiv Chowk Metro Station in New Delhi on Thursday, June 14, 2018. A thick blanket of haze continued to envelop Delhi and parts of the National Capital Region (NCR) on Thursday with the air quality remaining in 'poor' to 'hazardous' category. (PTI Photo/Arun Sharma) (PTI6_14_2018_000176B) *** Local Caption ***

केंद्र की ओर से चलाए जा रहे सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट (एसएएफएआर) ने बताया कि ‘बेहद खतरनाक’ स्तर पर पहुंच गया प्रदूषण का स्तर धीरे-धीरे कम हो रहा है क्योंकि प्रदूषण कम हो गए हैं.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक, पीएम 10 का स्तर (10 मिलीमीटर से कम मोटाई वाले कणों की मौजूदगी) दिल्ली-एनसीआर में 522 और दिल्ली में 529 मापा गया. बुधवार को पीएम 10 का स्तर दिल्ली-एनसीआर में 778 और दिल्ली में 824 पर पहुंच गया था जिससे शहर की आबोहवा पूरी तरह से गंदी हो गई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi