S M L

News18 Rising India: महिलाओं के लिए मिसाल बनी निर्मला सीतारमण बताएंगी अपने अनुभव

राइजिंग इंडिया के मंच पर रक्षा मंत्री का वक्तव्य कई मायनों में अहम होने वाला है

Updated On: Mar 13, 2018 04:09 PM IST

FP Staff

0
News18 Rising India: महिलाओं के लिए मिसाल बनी निर्मला सीतारमण बताएंगी अपने अनुभव

देश का सबसे बड़ा मीडिया समूह न्यूज़18 'राइजिंग इंडिया समिट' का आयोजन करने जा रहा है. दिल्ली के होटल ताज में 16 और 17 मार्च को होने वाले इस कार्यक्रम में देश के दिग्गजों के साथ-साथ दुनियाभर की कई मशहूर हस्तियां शिरकत करेंगी. इस मंच पर देश की पहली महिला रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण भी पहुंचेंगी.

रक्षा मंत्री सीतारमण सेना में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने और रक्षा क्षेत्र में मेक इन इंडिया की प्रगति के बारे में बताएंगी? भारत सरकार ने इस बार यानी 2018-19 में रक्षा बजट के लिए 2.95 लाख करोड़ रुपए आवंटित किए हैं, जो पिछले साल के 2.74 लाख करोड़ रुपए की तुलना में 7.81 फीसदी ज्यादा है. सरकार अब अपने देश में ही रक्षा साजो सामान बनाने कोशिश कर रही है, ताकि इस मामले में विदेशी निर्भरता कम हो जाए. ऐसे में राइजिंग इंडिया के मंच पर रक्षा मंत्री का वक्तव्य काफी अहम होगा.

NEWS18 RISING INDIA

देश की महिलाओं के लिए मिसाल बनीं रक्षा मंत्री सीतारमण न्यूज़18 इंडिया राइजिंग के मंच पर देश को सुरक्षित बनाए रखने के अपनी कोशिशों को साझा करेंगी. वह बताएंगी कि भारत को तरक्की की और ऊंचाइयों तक कैसे ले जाना है. आर्थिक सर्वेक्षण के अनुसार 2018-19 में भारत की जीडीपी 7 से 7.5 प्रतिशत तक होने की उम्मीद है. विश्व बैंक ने अपनी 'ईज़ ऑफ डूईंग' बिजनेस रिपोर्ट में भारत को 100वां स्थान दिया है.

तमिलनाडु के मदुरई में जन्‍मीं सीतारमण वाणिज्‍य मंत्रालय भी संभाल चुकी हैं. मोदी कैबिनेट के रीव्‍यू में इस मंत्रालय का काम काफी सराहा गया था. वाणिज्‍य मंत्री रहते हुए सीतारमण ने कई देशों के साथ व्‍यापारिक समझौतों को भारत के हित में लागू कराने में कामयाबी पाई. इसके चलते पीएम मोदी की महत्‍वाकांक्षी स्‍टार्ट अप योजना को मदद मिली. जीएसटी के लागू कराने में भी उनका अहम रोल था. इसलिए उन्हें रक्षा मंत्री के रूप में प्रमोशन मिला.

कौन हैं निर्मला सीतारमण

तमिलनाडु में जन्मीं सीतारमण ने आंध्र प्रदेश में शादी की.

- 1980 में उन्‍होंने जेएनयू से एमए किया और बाद में 'गेट फ्रेमवर्क के अंदर भारत-यूरोप टेक्‍सटाइल व्‍यापार' पर पीएचडी की.

- निर्मला ने लंदन में प्राइस वाटर हाउस कूपर्स रिसर्च में काम किया.

- कुछ साल बाद वे पति के साथ हैदराबाद लौट आईं. यहां उन्‍होंने एक स्‍कूल और पब्लिक पॉलिसी संस्‍थान खोला.

-वह राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य रह चुकी हैं.

- 2006 में राष्‍ट्रीय महिला आयोग में कार्यकाल खत्‍म होने के बाद वे बीजेपी से जुड़ गईं.

- 2014 के लोकसभा चुनावों से पहले उन्‍हें प्रवक्‍ता बना दिया गया. हिंदी न जानने के बावजूद निर्मला ने अपनी बोलने की शैली से अपनी छाप छोड़ी. इस दौरान वे टीवी पर बीजेपी का बड़ा चेहरा थीं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi