विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

पीएम मोदी जहां बोलने वाले हैं...आखिर वो 'हैकाथॉन' है क्या बला?

हैकाथॉन के जरिए इनोवेशन को बढ़ावा देना चाहती है सरकार

FP Staff Updated On: Apr 01, 2017 01:12 PM IST

0
पीएम मोदी जहां बोलने वाले हैं...आखिर वो 'हैकाथॉन' है क्या बला?

आज दुनिया का सबसे बड़ा हैकाथॉन, 'स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन' हमारे देश की 26 जगहों पर शुरू होगा. इसका आगाज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन के साथ होगा. इसमें करीब 10,000 छात्र 598 समस्याओं का डिजिटल समाधान करेंगे.

सरकार हैकाथॉन के जरिए इनोवेशन को बढ़ावा देना चाहती है, लेकिन इतना बड़ा इवेंट होने के बाद भी हैकाथॉन क्या है...इसके बारे में कम ही लोग जानते हैं. आइए आपको बताते हैं कि ये हैकाथॉन है क्या..

हैकाथॉन को कोडफेस्ट, हैकफेस्ट या फिर हैक-डे के नाम से भी जाना जाता है. दरअसल ये एक कोडिंग इवेंट होता है, जिसमें कई सारे कंप्यूटर प्रोग्रामर्स और अन्य इच्छुक लोग किसी नए सॉफ्टवेयर प्रोग्राम को तैयार करने या उसमें नए सुधार लाने के लिए एक छत के नीचे इकट्ठा होते हैं.

ये कार्यक्रम ज्यादातर 24 से 48 घंटों तक चलता है, जिसमें भाग लेने वाली टीमों को किसी प्रॉडक्ट के लिए प्रोटोटाइप तैयार करना होता है, जोकि अमूमन वेब या मोबाइल एप होती है. हालांकि कई बार टीमों को हार्डवेयर डिवाइसेस का भी निर्माण करना होता है.

वीडियो की मदद से जुटाएं हैकाथॉन से जुड़ी अन्य बड़ी जानकारियां

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi