S M L

योजनाबद्ध तरीके से उपवास रखना डायबिटीज के रोग में हो सकता है फायदेमंद: रिसर्च

एक रिसर्च के मुताबिक, समय-समय पर योजनाबद्ध तरीके से उपवास रखने से टाइप 2 प्रकार के डायबिटीज रोग में मरीज को फायदा पहुंच सकता है

Updated On: Oct 10, 2018 05:00 PM IST

Bhasha

0
योजनाबद्ध तरीके से उपवास रखना डायबिटीज के रोग में हो सकता है फायदेमंद: रिसर्च

समय-समय पर योजनाबद्ध तरीके से उपवास रखने से टाइप 2 प्रकार के डायबिटीज रोग में मरीज को फायदा पहुंच सकता है. ऐसा करने से चिकित्सक तीन मरीजों में इंसुलिन की जरूरत को कम करने में सफल रहे हैं. टाइप 2 डायबिटीज में यूं तो जीवनशैली में बदलाव करने से फायदा मिलता है लेकिन ऐसा करके हमेशा ही बल्ड शुगर लेवल को नियंत्रण में रख पाना संभव नहीं है.

कनाडा के टोरंटो विश्वविद्यालय और स्कारबोरो अस्पताल के चिकित्सकों के मुताबिक 40 से 67 वर्ष के आयुवर्ग के तीन व्यक्तियों ने योजनाबद्ध तरीके से उपवास रखा.

ये मरीज रोग पर नियंत्रण के लिए कई दवाइयां ले रहे थे और इंसुलिन भी नियमित रूप से ले रहे थे. टाइप 2 डायबिटीज के अलावा वह हाई ब्लड प्रेशर और हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या से भी ग्रसित थे.

इनमें से दो लोगों ने हर एक दिन के बाद पूरे 24 घंटे का उपवास रखा जबकि तीसरे ने हफ्ते में तीन दिन तक उपवास रखा. इस दौरान उन्होंने बहुत ही कम कैलोरी वाला पेय या खाद्य पदार्थ इस्तेमाल किया. लगभग दस महीने तक उन्होंने यह जारी रखा. इसके बाद उनकी ब्लड शुगर, वजन आदि की फिर से जांच की गई. उपवास शुरू करने के महीनेभर के भीतर ही तीनों की इंसुलिन की जरूरत कम हो गई.

दो व्यक्तियों ने डायबिटीज संबंधी अन्य दवाएं लेना भी बंद कर दिया जबकि तीसरे ने चार में से तीन दवाइयां लेना बंद कर दिया. तीनों का दस से 18 फीसदी तक वजन कम हो गया. हालांकि चिकित्सकों का कहना है कि महज तीन मामलों पर आधारित इस शोध से कोई ठोस निष्कर्ष नहीं निकाला जा सकता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi