S M L

देशभर के किसान संगठनों का दिल्ली के जंतर-मंतर पर जमावड़ा

किसानों की समस्याओं को लेकर पिछले दिनों किसान मुक्ति यात्रा शुरू की गई थी.

Updated On: Jul 18, 2017 10:09 AM IST

Ravishankar Singh Ravishankar Singh

0
देशभर के किसान संगठनों का दिल्ली के जंतर-मंतर पर जमावड़ा

देशभर के किसान नेता मंगलवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर इकट्ठा हो रहे हैं. किसानों की समस्याओं को लेकर इन नेताओं ने पिछले दिनों किसान मुक्ति यात्रा शुरू किया था.

किसान मुक्ति यात्रा की शुरुआत मध्यप्रदेश के मंदसौर से हुई, जहां पिछले दिनों गोलीकांड में 6 किसानों की मौत हो गई थी. मुक्ति यात्रा 6 राज्यों से होती हुई मंगलवार को जंतर-मंतर पहुंचने वाली है. इस यात्रा के साथ हजारों की संख्या में किसान जंतर-मंतर पहुंचेगे.

जंतर-मंतर पर पहुंच कर यह यात्रा एक अनिश्चितकालीन धरने में परिवर्तित हो जाएगी. इस धरने में देश भर के 200 से भी अधिक किसान संगठन शामिल होंगे.

महाराष्ट्र के किसान नेता और लोकसभा सांसद राजू शेट्टी भी संसद पहुंचकर सभी सांसदों से जंतर-मंतर पहुंचकर शहीद किसानों को श्रद्धांजलि अर्पित करने की अपील की है.

स्वराज इंडिया पार्टी के संयोजक और किसान आंदोलन की अगुवाई करने वाले योगेंद्र यादव ने कहा कि अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति किसानों की समस्या और किसानों को न्याय के लिए अंतिम क्षण तक संघर्ष करेगी.

farmers strike

किसान मुक्ति यात्रा में हर दिन एक महान किसान नेता को समर्पित किया जाता है. इसी कड़ी में सोमवार का दिन महान किसान नेता चौधरी चरण सिंह को समर्पित किया गया.

मंदसौर के गोलीकांड, बारदौली और खेड़ा की विरासत को याद करते हुए यह यात्रा निकाली गई. नर्मदा के विस्थापित किसानों के संघर्ष से जुड़ी साथ ही व्यारा के आदिवासी महिलाओं और मेहसाणा में दलित संगठनों के आजादी कूच का हिस्सा बनी.

उत्तर प्रदेश में किसानों को आलू की खरीद ना होने की वजह से गहरी समस्या का सामना करना पड़ रहा है. आलू की बिक्री ना होने की वजह से भी किसान की मौत हो रही है.

आलू की उचित खरीद ना होने के विरोध में आगरा के किसान भी जंतर-मंतर पर 10 ट्रक आलू लेकर आ रहे हैं. प्रत्येक ट्रक में 12 हजार 500 किलो आलू होगी जिसे विरोधस्वरूप दिल्ली के लोगों में बांटा जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi