S M L

किसान आंदोलन LIVE Updates: तमिलनाडु के किसान वापस लौटे, बिना वस्त्रों के प्रदर्शन की दी धमकी

200 किसान संगठनों के आह्वान पर गुरुवार से आयोजित आंदोलन के लिए किसानों का दिल्ली का पहुंचना शुरू हो गया है

| November 29, 2018, 06:11 PM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Nov 29, 2018

  • 13:35(IST)

    इस आंदोलन में दिल्ली यूनिवर्सिटी के कुछ छात्र भी किसानों के समर्थन में आकर हिस्सा ले रहे हैं.

  • 13:33(IST)

    किसान मार्च में हिस्सा लेते हुए योगेंद्र यादव. योगेन्द्र यादव की पार्टी स्वराज इंडिया इस आंदोलन में हिस्सा ले रही है.

  • 13:19(IST)

    रामलीला मैदान के पास किसानों का लगा जमघट

  • 12:25(IST)
  • 12:25(IST)
  • 12:24(IST)

    दिल्ली के कई इलाकों से किसान पैदल रामलीला ग्राउंड के लिए निकल चुके हैं. बताया जा रहा है कि सभी किसान 3 बजे तक रामलीला ग्राउंड में पहुंच जाएंगे. दिल्ली पुलिस ने कहा है कि उन्होंने सुरक्षा व्यवस्था के व्यापक इंतजाम किए हैं.

  • 12:17(IST)
  • 12:10(IST)

    किसानों का मार्च रामलीला मैदान की तरफ शुरू हो गया है. दिल्ली के सरायकालेखां से किसानों का एक जत्था रामलीला मैदान की तरफ रवाना हुआ है. कई राज्यों से आए किसान दिल्ली में दो दिन का आंदोलन कर रहे हैं. 

  • 12:03(IST)

    दिल्ली में चार जगहों से रामलीला मैदान तक मार्च करेंगे किसान. निजामुद्दीन के पास स्थित गुरूद्वारा श्री बाला साहिब से दक्षिण भारत, महाराष्ट्र के किसान मार्च करेंगे, पंजाब, हरियाणा ​के किसान बिजवासन से, उत्तराखण्ड और नार्थ से आए किसान मजनू के टिला से इस यात्रा की शुरूआत करेंगे. वहीं बिहार, यूपी, से आए किसान आनंद विहार से रामलीला मैदान की तरफ कूच करेंगे.

  • 12:01(IST)

    ऑल इंडिया किसान सभा के जॉइंट सेक्रेटरी विजू कृष्णन ने फ़र्स्टपोस्ट हिंदी से बातचीत में कहा कि किसानों की उम्मीद जगा कर ही ये सरकार सत्ता में आई थी लेकिन वादे पूरे नहीं हुए. किसान ​के पास या आम जनता के पास सबसे बड़ा हथियार वोट होता है. 2019 का लोकसभा चुनाव किसान का वोट तय करेगा.

  • 09:56(IST)

    बिजवासन में हजारों किसान इकट्ठा हुए हैं. दिल्ली में दो दिन के आंदोलन में 1 लाख किसानों के पहुंचने की संभावना जताई जा रही है.

  • 09:54(IST)

    कई राज्यों से आए किसान दिल्ली में इकट्ठा हो रहे हैं. यहां से वो कल संसद भवन तक मार्च करेंगे.

किसान आंदोलन LIVE Updates: तमिलनाडु के किसान वापस लौटे, बिना वस्त्रों के प्रदर्शन की दी धमकी

किसानों को कर्ज से मुक्ति दिलाने और कृषि उत्पाद लागत का डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य मुहैया कराने की मांग को लेकर लगभग 200 किसान संगठनों के आह्वान पर गुरुवार से आयोजित आंदोलन के लिए किसानों का दिल्ली का पहुंचना शुरू हो गया है. अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति द्वारा 29 और 30 नवंबर को आहूत संसद मार्च को वाम दलों सहित 21 राजनीतिक दलों का समर्थन हासिल है.

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, 29 नवंबर की सुबह किसान बिजवासन से 26 किलोमीटर पैदल मार्च करते हुए शाम करीब पांच बजे रामलीला मैदान पहुंचेंगे. वहीं 30 नवंबर को संसद की ओर मार्च करेंगे.

समिति के संयोजक हन्नान मोल्लाह ने बुधवार को यहां बताया कि गुरुवार को रामलीला मैदान में एकत्र होने के लिये किसानों के समूह दिल्ली पहुंचने लगे हैं. उन्होंने बताया कि मेघालय, जम्मू कश्मीर, गुजरात और केरल सहित देश के विभिन्न राज्यों से किसानों के समूह सड़क और रेल मार्ग से दिल्ली और आसपास के इलाकों में एकत्र होने लगे हैं. मोल्लाह ने इसे अब तक का सबसे बड़ा किसान आंदोलन होने का दावा करते हुए कहा कि गुरुवार को रामलीला मैदान में किसान सभा के आयोजन के बाद शुक्रवार को किसानों का हुजूम रामलीला मैदान से संसद मार्च करेगा.

इससे पहले गुरुवार को सुबह दिल्ली के प्रवेश मार्गों से रामलीला मैदान तक किसान मार्च के लिए बिजवासन, मजनूं का टीला, निजामुद्दीन, आनंद विहार पर सभी किसान एकत्र होंगे. अखिल भारतीय किसान सभा के सचिव अतुल कुमार अंजान ने बताया कि शुक्रवार को संसद मार्ग पर आयोजित किसान सभा में आंदोलन का समर्थन कर रहे विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता शिरकत करेंगे. इनमें आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के भी शामिल होने की संभावना है.

अंजान ने बताया कि शुक्रवार को दो सत्रों में आयोजित किसान सभा के पहले सत्र में किसान नेता आंदोलन के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करेंगे. इसके बाद दूसरे सत्र में विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता किसानों को संबोधित करेंगे.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi