S M L

किसान आंदोलन को मिला समाजवादी पार्टी का साथ, कहा मांगे नहीं मानी तो प्रदेशभर में होगा प्रदर्शन

कानून व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखने के लिए भारी पुलिसबल तैनात किया गया है.

| October 02, 2018, 09:01 PM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Oct 2, 2018

  • 22:22(IST)

    बुधवार को किसान प्रदर्शन में पहुंचेंगे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता. कई पार्टियां पहले ही कर चुकी हैं समर्थन.

  • 21:06(IST)

    उत्तर प्रदेश-दिल्ली बॉर्डर पर पहुंची रेपिड एक्सन फोर्स, यहां रुके हुए हैं किसान

  • 21:05(IST)

    किसान आंदोलन के मद्देनजर बुधवार को गाजियाबाद के तमाम स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे.

  • 20:04(IST)

    समाजवादी पार्टी के एमएलसी संजय लाठर पहुंचे यूपी गेट. लाठेर ने कहा 'अखिलेश यादव जी ने हमें भेजा है. समाजवादी पार्टी किसान आंदोलन को पूर्ण समर्थन देती है और इस बात का यकीन और भरोसा दिलाती है कि अगर सरकार ने मांगें नहीं मानी तो पूरे प्रदेश में बड़ा आंदोलन शुरू किया जाएगा.

  • 18:58(IST)

    राकेश टिकैत ने कहा है कि किसानों का प्रदर्शन रात में भी जारी रहेगा. पहले यह माना जा रहा था कि शाम के बाद किसान लौट जाएंगे. इससे पहले राकेश टिकैत ने राजनाथ सिंह से मुलाकात की थी. 

  • 18:35(IST)

    बीकेयू की तरफ से घोषणा की जा रही है कि धरना खत्म नहीं हुआ है. जब तक सभी मांगें पूरी नहीं होंगी धरना जारी रहेगा. हालांकि कुछ किसान वापस जा रहे हैं.

  • 18:13(IST)

    पुलिस का कहना है कि कुछ प्रदर्शनकारियों ने ऑन ड्यूटी पुलिस पर पत्थरबाजी की और कई लोगों ने लाठी से भी हमला किया. ऐसी परिस्थिति में पुलिस ने उग्र भीड़ पर बल का प्रयोग किया. 

  • 18:10(IST)

    किसान आंदोलन के दौरान बल प्रयोग पर दिल्ली पुलिस ने प्रेस नोट जारी कर जवाब दिया. प्रेस नोट के मुताबिक पुलिस ने किसानों से अनुरोध किया था कि  सरकार के साथ आपके नेताओं की बातचीत के नतीजे आने तक का इंतजार करें. लेकिन इसके बावजूद भी कुछ लोग हिंसक हो गए और ट्रैक्टर से बैरिकेड तोड़ने लगे. कुछ लोगों ने लाठी से भी पुलिस पर हमला किया.

  • 17:12(IST)

    केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री जीएस शेखावत ने कहा, 'हमने कल रात भारतीय किसान संघ के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा की थी. गृहमंत्री राजनाथ सिंह के आवास पर एक और बैठक आयोजित की गई थी. अंत में, हम कुछ मुद्दों पर सहमत हुए और उन्होंने हमें आश्वासन दिया कि आंदोलन को बंद कर दिया जाएगा.

  • 16:24(IST)

    सिंह ने कहा कि सरकार ने किसानों की मुख्य मांग C2+50 पर अपना पक्ष साफ नहीं किया है. इसलिए किसान सरकार के निर्णय से संतुष्ट नहीं हैं. सरकार ने ऋण छूट पर अपना रुख स्पष्ट नहीं किया है. 

  • 16:20(IST)

    भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता ने कहा, 'सरकार और हमारे बीच 11 बिंदुओं पर चर्चा हुई. जिसमें से सात पर सरकार सहमत थी. जबकि चार बिंदुओं को सरकार ने आर्थिक मामला बताते हुए बाद में फैसला ले कर चर्चा करने को कहा.'

  • 16:14(IST)

     लघु और सीमांत किसानों का कर्ज माफ किया गया: योगी आदित्यनाथ

  • 16:13(IST)

    किसानों के विरोध प्रदर्शन के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रेस वार्ता की. उन्होंने कहा, किसानों की समस्या को लेकर यूपी सरकरा गंभीर है.

  • 15:56(IST)

    सरकार और किसानों के बीच गतिरोध जारी है. किसान  नेता सरकार के फैसलों से सहमत नहीं हैं. किसान सभी मांगों को माने जाने पर अड़े हुए हैं. 

  • 15:43(IST)

    किसानों ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए लाठी चार्ज किया और गोलीबारी भी की. वहीं एडी़जी प्रशांत कुमार ने इस आरोप को खारिज कर दिया.

  • 15:33(IST)

    किसान नेता देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह से उनके आवास पर मिले. बैठक के बाद किसान प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि किसानों की मांग पर विस्तार से चर्चा हुई है. जिसके बाद सरकार के 7 मांगों को मानने पर सहमति बनी है.

  • 14:42(IST)

    स्वाभिमान सत्कार संगठन के आर सेठ्ठी ने कहा, 'किसान आतंकवादी और नक्सली नहीं हैं, वह अपनी मांगों को लेकर आ रहे हैं. क्या उनके पास ऐसा करने का भी हक नहीं है?' उन्होंने कहा, 'शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने मध्य प्रदेश के मंदसौर में किसानों को मारा था. यह मोदी जी के लिए चेतावनी है कि अगर किसानों के साथ अन्याय होता रहा तो वह दिल्ली हार जाएंगे.'

  • 14:14(IST)

    राजनाथ सिंह के साथ चल रही बैठक खत्म होने के बाद गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि ज्यादातर मामलों पर सहमति बन गई है. उन्होंने कहा कि किसान नेता, उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री लक्ष्मी नारायण जी, सुरेश राणा जी और मैं खुद जा के किसानों से मिलेंगे और उन्हें सारी बातें बताएंगे.

  • 14:11(IST)

    गृह मंत्री राजनाथ सिंह के घर चल रही किसान नेताओं की बैठक खत्म हो गई है. केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा है कि किसान प्रतिनिधियों की मांग पर चर्चा हुई है. उन्होंने कहा कि कई विषयों पर सहमति बनी है. उन्होंने कहा कि हम किसानों से मिलकर फैसले के बारे में बताएंगे.

  • 14:09(IST)

    पुलिसिया कार्रवाई में घायल हुआ एक किसान

  • 14:07(IST)

    किसान क्रांति यात्रा को देखते हुए सुरक्षा के भारी इंताजामात किए गए हैं.

  • 14:06(IST)

    किसान क्रांति यात्रा

  • 13:52(IST)

    जेडीयू नेता केसी त्यागी ने कहा कि शांति से और बगैर किसी हथियार के राजधाट की तरफ जा रहे किसानों के साथ क्रूरता से व्यवहार किया गया. उनपर लाठीचार्ज हुआ. आंसू गैस के गोले दागे गए. हम इसकी निंदा करते हैं. 

  • 13:49(IST)

    भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि किसानों पर पुलिस की कार्रवाई गलत है. हमारे नेता गृह मंत्री राजनाथ सिंह के साथ बैठक कर रहे हैं. हम आगे की योजनाओं पर अपने नेताओं से बातकर फैसला करेंगे.

  • 13:09(IST)

    मिली जानकारी के मुताबिक, लगभग 5 हजार किसान दिल्ली सीमा में प्रवेश कर चुके हैं.

  • किसान नोएडा सेक्टर 62 गोल चक्कर की तरफ पैदल ही जा रहे हैं. इसके साथ ही आप के कार्यकर्ता किसानों का समर्थन भी कर रहे हैं. प्रशासन किसानों को रोकने की कोशिश कर रहा है. इस बीच दोनों में झड़प भी हुई, जिसमें 20 लोग घायल हुए हैं.

  • 13:04(IST)

    बीजेपी का कहना है कि कांग्रेस किसानों को भड़का रही है. हमने किसानों की भलाई के काम किए हैं. फसलों का समर्थन मूल्य बढ़ाया है. 

  • 12:59(IST)
  • 12:57(IST)

    सीपीएम के सीताराम येचुरी ने कहा है कि आजादी के बाद से अब तक किसानों में इतना असंतोष नहीं देखा गया है. इससे एक बार फिर साबित होता है कि मोदी सरकार किसान विरोधी है.

किसान आंदोलन को मिला समाजवादी पार्टी का साथ, कहा मांगे नहीं मानी तो प्रदेशभर में होगा प्रदर्शन

हरिद्वार से चला किसानों का मार्च अपनी मांगों को लेकर आज दिल्ली पहुंचेगा. भारतीय किसान यूनियन के हजारों किसान दिल्ली पहुंचने वाले हैं. ऐसे में कानून व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखने के लिए भारी पुलिसबल तैनात किया गया है. सोमवार को पूर्वी दिल्ली में एक हफ्ते के लिए धारा 144 लगा दी गई है. यूपी से दिल्ली जाने वाले रास्तों पर पुलिस ने बैरिकेट लगा रखा है.

किसान पूरा कर्ज माफ करने, स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करने, बिजली की बढ़ी दरें वापस लेने और 10 साल पुराने डीजल के वाहनों पर पाबंदी जैसे फरमान वापस लेने की मांगों के समर्थन में मार्च निकाल रहे हैं.

वहीं दिल्ली पुलिस उत्तर प्रदेश पुलिस के भी संपर्क में है. जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि प्रदर्शनकारी किसान दिल्ली में प्रवेश न कर सकें. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, 'उन्होंने प्रदर्शन के लिए दिल्ली पुलिस से कोई इजाजत नहीं मांगी है.'

भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष राकेश टिकैत बड़ी संख्या में समर्थकों के साथ हरिद्वार से नई दिल्ली के किसान घाट तक किसान क्रांति यात्रा पर हैं. यह मार्च पतंजलि (उत्तराखंड) से मुजफ्फरनगर, दौराला, परतापुर, मोदीनगर/मुरादनगर, हिंडन घाट होते हुए किसान घाट (दिल्ली) तक आयोजित किया जा रहा है. 23 सितंबर से ये मार्च शुरू हुआ था.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi