S M L

आत्महत्या की कोशिश करने वाले किसान के बेटे ने ठुकराया मुआवजा

राज्य के ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बवानकुले ने 84 वर्षीय किसान धर्मा पाटिल के लिए सहायता की घोषणा की थी.

Updated On: Jan 24, 2018 05:32 PM IST

Bhasha

0
आत्महत्या की कोशिश करने वाले किसान के बेटे ने ठुकराया मुआवजा

महाराष्ट्र सरकार ने कथित रूप से खुदकुशी की कोशिश करने के बाद गंभीर स्थिति से गुजर रहे 84 वर्षीय किसान को सहायता की पेशकश की है लेकिन उसके बेटे ने कोई भी राहत लेने से इनकार कर दिया है.

राज्य के ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बवानकुले ने 84 वर्षीय किसान धर्मा पाटिल के लिए सहायता की घोषणा की थी. पाटिल थर्मल पावर प्लांट के लिए उनकी जमीन के एवज में अपर्याप्त मुआवजे को लेकर परेशान थे और उन्होंने मुंबई में सचिवालय में अपनी जान देने की कोशिश की थी.

वह अपनी जमीन के अधिग्रहण के एवज में राज्य सरकार से ऊंची मुआवजा राशि के अनुरोध के साथ सोमवार को बुल्ढ़ाना जिले के सिंदखेरद्राजा से मुंबई  मंत्रालय(सचिवालय) आए थे. बाद में उन्होंने सचिवालय परिसर में कथित रूप से जहर खा लिया था और उन्हें मुंबई के सेंट जार्ज अस्पताल में भर्ती कराया गया.

बेटे ने कहा- पिता ने नहीं मांगी भीख

उनके बेटे नरेंद्र पाटिल ने कहा, ‘मुझे बताया गया है कि सरकार ने मेरे परिवार के लिए 15 लाख रुपए की वित्तीय सहायता की पेशकश की है.’

नरेंद्र ने कहा, ‘मैंने लेने से मना कर दिया क्योंकि मेरे पिता पैसे की भीख नहीं मांग रहे हैं. हम बस यह चाहते है कि जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया एक जैसी हो क्योंकि हमारे पड़ोसी को हमारी तुलना में अधिक ऊंचा दाम मिला है.’

उसने सवाल किया, ‘यदि राज्य हमारे पड़ोसी को उसकी जमीन के लिए ऊंचा दाम दे सकता है तो वह हमें कैसे कम दाम दे सकता है. दोनों जमीन एक दूसरे के अगल-बगल है तो ऐसे में विषमता क्यों है.’

नरेंद्र ने मंगलवार को कहा था कि उसके पिता को पांच एकड़ जमीन के लिए बस चार लाख रुपए मुआवजा मिला जबकि उसके पड़ोसी को दो एकड़ जमीन के लिए 1.89 करोड़ रुपए मिले. उसके पिता इस संबंध में शिकायत को लेकर तीन महीने से मुंबई  मंत्रालय आ रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi